महान भारतीय चिकित्सक डॉ. बिधान चंद्र राय के जन्म दिवस पर एक जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाया जाता है. उनका जन्म 1882 में बिहार के पटना जिले में हुआ था. कोलकाता में चिकित्सा शिक्षा पूर्ण करने के बाद डॉ. राय ने एमआरसीपी और एफआरसीएस की उपाधि लंदन से प्राप्त की.Read More →

इतिहास ने अपने अन्दर कई घटनाओं को समेट कर रखा है. इस सेक्शन के माध्यम से हम आपको इतिहास के इन पन्नों में छिपे घटनाओं से रूबरू कराते है. आइये आज के इतिहास को जानते है. 1873: भारत में वाई.एम.सी.ए. की स्थापना। 1887: मुंबई स्थित विक्टोरिया टर्मिनस (छत्रपति शिवाजी टर्मिनस) लोगों केRead More →

मेष राशि  आज का दिन काफी अच्छा रहने वाला है। आपका व्यक्तित्व खुशबू की तरह चारों तरफ महकेगा।आपको कोई बड़ी प्रसिद्धि मिलने के योग बने हुये है। छात्र किसी काम को पूरा करने के लिये पिता की मदद लेंगे, जिससे उनका काम अच्छे से पूरा होगा। सेहत अच्छी बनी रहेगी।Read More →

इतिहास ने अपने अन्दर कई घटनाओं को समेट कर रखा है. इस सेक्शन के माध्यम से हम आपको इतिहास के इन पन्नों में छिपे घटनाओं से रूबरू कराते है. आइये आज के इतिहास को जानते है. 1269: फ्रांस के राजा लुई ने सभी यहूदियों को एक खास बैज पहनने का हुक्मRead More →

इतिहास ने अपने अन्दर कई घटनाओं को समेट कर रखा है. इस सेक्शन के माध्यम से हम आपको इतिहास के इन पन्नों में छिपे घटनाओं से रूबरू कराते है. आइये आज (16 जून) के इतिहास को जानते है. जयंती 1. हिंदी के प्रथम तिलिस्मी लेखक बाबू देवकीनन्दन खत्री का जन्मRead More →

इतिहास ने अपने अन्दर कई घटनाओं को समेट कर रखा है. इस सेक्शन के माध्यम से हम आपको इतिहास के इन पन्नों में छिपे घटनाओं से रूबरू कराते है. आइये आज (16 जून) के इतिहास को जानते है. आज ही के दिन महान स्वतंत्रता सेनानी देशबंधु चितरंजन दास का निधनRead More →

1960: चीन में चक्रवाती तूफान मैरी के कारण 1600 लोगों की मृत्यु हो गई. 1815: लबजमबर्ग फ्रांस के कब्जे से आजाद हुआ. 1964: लाल बहादुर शास्त्री भारत के दूसरे प्रधानमंत्री बने. 1944: रूस ने फिनलैंड के केरेलिया क्षेत्र पर आक्रमण किया. 2011: पेंटर और फिल्म निर्देशक रह चुके एमएफ हुसैनRead More →

विश्व पर्यावरण दिवस प्रत्येक वर्ष 5 जून को मनाया जाता है. यह दिवस धरती पर लगातार बेकाबू होते जा रहे प्रदुषण और ग्लोबलवार्मिंग जैसे कारणों से निपटने के लिए धरती और मानव जाति के बीच तालमेल बनाने के लिए मनाया जाता है. इस दिवस को प्रत्येक साल अलग अलग थीमRead More →

(प्रशांत सिन्हा)  मेरे पिताजी अक्सर जयप्रकाश आंदोलन की चर्चा अपने मित्रों से करते थे और मैं उनके पास बैठ कर उनकी बातें सुना करता था। मेरा विद्यालय जयप्रकाश बाबू के घर के ठीक सामने था। मैं हमेशा उन्हें धूप में किताबें पढ़ते हुए देखा करता था। शिक्षकगण भी उनके विषयRead More →

Chhapra: सोशल मीडिया, यह शब्द सुनते ही कुछ लोग इसे भ्रामक जानकारियों को फैलाने वाला करार देते है. विडंबना यह है कि सोशल मीडिया को भ्रामक करार देने के लिए भी उसके ही प्लेटफॉर्म को चुना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह असीमित है और इसकी पहुँच व्यापक है. सोशलRead More →

(प्रशांत सिन्हा) करोना महामारी के कारण बिहार के श्रमिकों को बेहद परेशानी से गुज़रना पड़ा है। जिस तरह श्रमिकों को समस्या हुई है वह शायद ही इतिहास में हुआ होगा। वैसे महामारी और पलायन में रिश्ता है। जब भी महामारी फैली है पलायन हुआ है। करोना महामारी ने हमें सीखRead More →

प्रेस समाज का आइना होता है, जो समाज में घट रही हर अच्छी बुरी चीज को जनता के सामने लाता है. प्रेस समाचार को आप तक पहुँचाने का सबसे पुराना और विश्वस्त तरीका है. प्रेस की आजादी से किसी भी देश में अभिव्यक्ति की आजादी का पता चलता है. आजRead More →