छपरा टुडे ने अपने अनवरत यात्रा के दशक पूरे किए

छपरा टुडे ने अपने अनवरत यात्रा के दशक पूरे किए

दशक का सफर..
छपरा टुडे ने आज अपने अनवरत यात्रा के दशक पूरे किए हैं।
मैं, इस यात्रा के सहयोगियों, मार्गदर्शकों, पाठकों, दर्शकों और निंदकों का आभार व्यक्त करना चाहता हूं। किसी काम को शुरू करना आसान होता है, पर उसे एक सम्यक गति देते हुए जारी रखना कठिन होता है। हमारी टीम ने भाग- दौड़, आपाधापी से इतर विश्वसनीय और सटीक खबरों को अपने अंदाज में हमेशा आपतक पहुंचाया है। अब हमें आपके विश्वास के दशक का साथ मिल गया है।
बीते 10 सालों में बहुत उतार चढ़ाव आए हैं। डिजिटल मीडिया पोर्टल पर उठने वाले सवालों को भी हमने झेला है। लेकिन, इन सबसे हम कभी भी कर्तव्य पथ से डिगे नहीं हैं। बल्कि इन सवालों ने हमें और मजबूत किया है।
भारत सरकार के सूचना एवम प्रसारण मंत्रालय ने वर्ष 2021 में Digital Media Ethics Code Rules, 2021 लाकर डिजिटल में पत्रकारिता के मानकों के अनुरूप कार्य करने वालों को बड़ी राहत दी। इसके साथ ही आपका www.chhapratoday.com मंत्रालय के नियम अनुसार Web Journalists’ Association of India के Self Regulatory Body के अंतर्गत पंजीकृत होने वाले वेबसाइटों की प्रथम सूची में शामिल हुआ।
यह उन लोगों को जवाब था जो अक्सर गाहे बगाहे हमारी विश्वसनीयता को धूमिल कर अपना उल्लू सीधा करने में जुटे थें।
अब एक दौर ऐसा भी आया जब कई लोगों ने छपरा टुडे को अपना प्रतिद्वंदी भी बता दिया। लेकिन, मैं और मेरी टीम किसी को अपना प्रतिद्वंदी नही मानती, क्योंकि हम हर दिन खुद से ही मुकाबला कर खुद को और बेहतर करने के प्रयास में जुटें हैं।
मुझे खुशी है कि डिजिटल मीडिया के माध्यम से खबरों को पाठकों, दर्शकों तक पहुंचाने की जो लकीर हमने वर्ष 2012 में खींची थी आज उस पर बड़ी संख्या में संस्थाएं मौजूद हैं, उन सभी संस्थाओं को भी शुभकामनाएं।
आज डिजिटल के माध्यम से हर छोटी बड़ी खबरें पाठकों तक पहुंच रहीं हैं, हर समस्या तुरंत खबर बन रही है। हर हलचल पर विश्लेषण हो रहा है, यहां तक कि डिजिटल मीडिया खबरों में आगे रह रही है और बाकी माध्यम उसे अपने कंटेंट में शामिल करने को मजबूर भी हो रहे हैं।
पत्रकारिता दो धारी तलवार के समान होती है। जब तक आप किसी के लिए अच्छा लिखते है वह खुश रहता है, पर जब आप उसकी एक छोटी सी गलती उभार देते हैं तो वह आप पर तरह तरह के आरोप भी मढ देता है। हां, इस दौर में लोगों के सॉफ्ट टारगेट पत्रकार भी बने हैं, जिसको जो मर्जी पत्रकारों के बारे में लिख रहा है। इसमें संयम नहीं दिखता।
डिजिटल मीडिया के आने के बाद से पाठक तुरंत अपने विचार जाहिर कर देते हैं, जो पहले संपादक के पास पत्राचार से ही संभव होता था। इससे परस्पर संवाद का विकास हुआ है और समस्याओं को तेजी से खबरों के रूप में पड़ोसा भी जाने लगा है।
समाज के सजग प्रहरी के रूप में हमने समय समय पर अपनी जवाबदेही और सामाजिक दायित्वों के अनुसार कार्य किए हैं। शहर में तनाव की कई खबरों में हमने आपाधापी और अपने #Views को बढ़ाने की होड़ की जगह संयम रखते हुए आपतक खबरों को पहुंचाया है। क्योंकि हम जानते हैं डिजिटल मीडिया की खबरों की पहुंच बाकी माध्यमों से कई गुणा ज्यादा है। आपतक विश्वसनीय खबरें ही पहुंचे इसकी हमने पूरी निष्ठा से कोशिश की है।
दूर देश में रहने वाले अपनी मिट्टी की सुगंध से रूबरू होते रहें इस संकल्पना के साथ शुरू हुए www.chhapratoday.com की वेबसाइट को आज लाखों लोग देश के साथ साथ विश्व के हर कोने से पढ़ रहें हैं। देश के अन्य हिस्सों और विदेशों में रह रहे हमारे पाठकों, दर्शकों तक खबरों के साथ साथ पर्व – त्योहारों का अहसास भी पहुंचता रहे इसके लिए हर त्योहार में हमारी टीम की कोशिश रहती है कि हम इसे जरूर कवर करें।
क्योंकि हम जानते हैं कि आप हर दिन अपनी मांटी, देश को याद करते हुए यही गुनगुनाते होंगे…
“हम तो हैं परदेश में, देश में निकला होगा चांद”
चिर सजग आँखे उनींदी आज कैसा व्यस्त बाना!
जाग तुझको दूर जाना!
अचल हिमगिरि के हृदय में आज चाहे कम्प हो ले,
या प्रलय के आँसुओं में मौन अलसित व्योम रो ले;
आज पी आलोक को डोले तिमिर की घोर छाया,
जाग या विद्युत्-शिखाओं में निठुर तूफान बोले!
पर तुझे है नाश-पथ पर चिह्न अपने छोड़ आना! जाग तुझको दूर जाना! -महादेवी वर्मा
अब आगे के सफर में आप अपना विश्वास, सहयोग ऐसे ही बनाए रखियेगा ऐसी अपेक्षा है।
सुरभित दत्त
संपादक
छपरा टुडे डॉट कॉम (www.chhapratoday.com)
Twinkle Stars Media & Advertisers

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें