छपरा सदर अस्पताल में बना मॉडल लैब, अब 24 घंटे मिलेगी जांच सुविधाएं

• स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार का हो रहा है प्रयास
• एक केंद्र में मिलेगी 35 प्रकार की जांच की सुविधा
• पहले सिर्फ ओपीडी टाइम में मिलती थी सेवा
Chhapra:  जिले में स्वास्थ्य की गुणवत्ता में सुधार को लेकर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने के लिए विभाग प्रतिबद्ध है। इस दिशा में विभिन्न स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। छपरा सदर अस्पताल में भी स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में लगातार बढोतरी की जा रही है। सदर अस्पताल के ओपीडी में मॉडल लैब बनाया गया है। जहां पर 24 घंटे मरीजों को जांच की सुविधा मिल सकेगी। इस लैब में 35 प्रकार के जांच की सुविधा मिलेगी। ओपीडी और इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को काफी सहुलियत होगी। डीएनडीआई संस्था के सहयोग से मॉडल लैब व सेंटर ऑफ एक्सिलेंस बनाया गया है। सदर अस्पताल में इलाज कराने वाले आने वाले मरीजों को जरूरत के अनुसार चिकित्सक ब्लड जांच सहित कई तरह की जांच कराने को कहते हैं। इसके साथ ही सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों की भी ब्लड जांच सहित अन्य जांच कराने की जरूरत पड़ती है। हालांकि सदर अस्पताल में ब्लड जांच सहित अन्य जांच की सुविधा है।


डीएनडीआई के सहयोग से बना लैब
सिविल सर्जन डॉ. सागर दुलाल सिन्हा ने कहा कि सेंटर ऑफ एक्सीलेंस न केवल कालाजार के लिए अच्छा होगा, बल्कि अस्पताल में इस परियोजना के तहत लैब अपग्रेडेशन से अन्य मरीजों और डॉक्टरों को भी मदद मिलेगी। डीएनडीआई जिला अस्पताल, सारण में सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करके राज्य में कालाजार उन्मूलन का समर्थन कर रहा है।


आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा लैब
सदर अस्पताल के ओपीडी में बने मॉडल लैब को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। इसके लिए आधुनिक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। इस लैब में करीब 10 लाख रुपये की लागत से ऑटो एनिलाइजर मशीन की स्थापना की जायेगी। इस केंद्र में मरीजों को अब कंप्यूटराइज्ड जांच रिपोर्ट उपलब्ध करायी जायेगी। पहले पर्ची पर लिखकर रिपोर्ट दी जाती थी।


इमरजेंसी मामलों में होगी सुविधा 

अस्पताल प्रबंधक राजेश्वर प्रसाद ने बताया कि सदर अस्पताल स्थित लैब के 24 घंटे संचालन होने से सबसे ज्यादा फायदा किसी भी तरह की इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को मिल सकेगा। पूर्व में रात्रि समय इमरजेंसी में आये मरीज की जांच नही हो पाने से चिकित्सकों को भी इलाज करने में परेशानी का सामना करना पड़ता था। बता दे कि सदर अस्पताल स्थित लैब में पहले से तीन लैब टेक्नीशियन ही उपलब्ध थे। जिससे यहां सुबह आठ बजे से दो बजे तक व दो बजे से रात्रि आठ बजे तक दो शिफ्ट में ही कार्य हो पाता था। अब यह सेवा 24 घंटे मिलेगी।

ये जांच की सुविधा होगी उपलब्ध
• कालाजार
• डेंगू
• खून जांच
• सुगर जांच
• सीबीसी जांच
• एलएफटी जांच
• केएफजी
• फाइलेरिया
• मलेरिया
• सिरम
• टायफाइड
• समेत 35 प्रकार का जांच

0Shares

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें