पूरे बिहार को मांझी सीएचसी ने दिया संदेश, यक्ष्मा के सभी मरीजों को समाज के सक्षम व्यक्तियों द्वारा लिया गया गोद

पूरे बिहार को मांझी सीएचसी ने दिया संदेश, यक्ष्मा के सभी मरीजों को समाज के सक्षम व्यक्तियों द्वारा लिया गया गोद

पूरे बिहार को मांझी सीएचसी ने दिया संदेश, यक्ष्मा के सभी मरीजों को समाज के सक्षम व्यक्तियों द्वारा लिया गया गोद

Chhapra: सामाजिक स्तर पर समाज द्वारा टीबी मरीजों को तिरस्कार या कलंकित किया जाना यक्ष्मा उन्मूलन कार्यक्रम में सबसे बड़ा बाधक है। लेकिन इसके लिए आप सभी को जागरूक होने की जरूरत है। उक्त बातें सिविल सर्जन डॉ सागर दुलाल सिन्हा ने मांझी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर स्थित सभागार में निक्षय मित्रों द्वारा 41 रोगियों को गोद लेकर फूड पैकेट वितरण समारोह के दौरान कही।

इतनी बड़ी संख्या में एक साथ 41 मरीजों के बीच फूड पैकेट वितरण समारोह का विधिवत उद्घाटन सीएस डॉ सागर दुलाल सिन्हा, सीडीओ डॉ आरपी सिंह, एमओआईसी डॉ रोहित कुमार के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। सीएस ने यह भी कहा कि टीबी बीमारी की जांच एवं उपचार की सुविधा सरकार द्वारा निशुल्क उपलब्ध करायी जाती है। हालांकि निक्षय मित्र योजना टीबी मरीजों के लिए वरदान साबित हो रहा है, क्योंकि विशेष रूप से उनके पोषण का ध्यान रखा जाता है। ताकि जल्द से जल्द मरीज ठीक हो सके। कमजोर प्रतिरोधक क्षमता और कुपोषण टीबी के प्रमुख कारण हैं। लेकिन जनजागरूकता से ही लगाम लगायी जा सकती है।

उद्घाटन समारोह को सीएस, सीडीओ, डीपीएम अरविंद कुमार, डीपीसी रमेश चंद्र कुमार और प्रखंड प्रमुख राजेश कुमार द्वारा सभा को संबोधित किया गया। जबकि इस अवसर पर यक्ष्मा विभाग के डीपीसी हिमांशु शेखर, सिफार के क्षेत्रीय कार्यक्रम समन्वयक धर्मेंद्र रस्तोगी, वर्ल्ड विजन के डीसी रणधीर कुमार, बीएचएम राम मूर्ति, बीसीएम विवेक कुमार, एसटीएस राजीव कुमार, एलटी मिथिलेश कुमार सहित कई अधिकारी और कर्मी उपस्थित थे।

0Shares
Prev 1 of 226 Next
Prev 1 of 226 Next

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें