संभावित बाढ़ के मद्देनजर अभियंता क्षेत्र में रहें सक्रिय: आयुक्त

संभावित बाढ़ के मद्देनजर अभियंता क्षेत्र में रहें सक्रिय: आयुक्त

Chhapra: सारण प्रमण्डलीय आयुक्त नर्मदेश्वर लाल के द्वारा तकनीकी पदाधिकारियों की प्रमण्डल स्तरीय बैठक में विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा गया कि बाढ़ की संभावना को देखते हुए सभी तैयारी पहले से ही पूरी कर ली जाय एवं अभियंता क्षेत्र में अपनी सक्रियता बढ़ाये.

बैठक में अभियंताओं के द्वारा बताया गया कि वर्तमान में नदियों का जल स्तर गिर रहा है किन्तु चौकसी बढ़ा दी गयी है. नहर अंचल सारण और सिवान के अधीक्षण अभियंता के द्वारा बताया गया कि सभी नहरों में पानी है तथा पटवन भी हो रहा है.

आयुक्त ने पूछा कि नहर की पानी से अभी तक कितना पटवन हुआ है. इसपर अभियंताओं ने बताया कि पटवन का मापी अभी नहीं हुआ है परन्तु अगले माह इसका प्रतिवेदन उपलब्ध रहेगा. नहर अंचल सिवान के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि गोपालगंज में नहर में हीं एक मजार बना हुआ है जिससे पानी के बहाव में काफी रूकावट आ रही है. उन्होने बताया कि मजार का विस्तारीकरण भी समय-समय पर किया जाता है. इस सम्बंध में आयुक्त के द्वारा आयुक्त के सचिव को जरूरी निदेश दिया गया.

इसे भी पढ़ें: बिहार के नए राज्यपाल बने फागू चौहान, लालजी टंडन मध्यप्रदेश के गवर्नर बने

पथ निर्माण के प्रगति की समीक्षा में अभियंताओं के द्वारा बताया गया कि जिन पथों का चौड़ीकरण किया जाना है उसमें फॉरेस्ट क्लीयरेन्स बड़ी बाधा बनी हुयी है. राष्ट्रीय उच्च पथ, मुजफ्फरपुर अंचल के द्वारा बताया गया कि एन.एच. 101 सहित चार प्रोजेक्ट चल रहा है. पिछले एक वर्ष से फॉरेस्ट क्लीयरेन्स के लिए वन विभाग को लिखा गया है परन्तु क्लीयरेन्स नहीं मिला है. आयुक्त के द्वारा बैठक में उपस्थित प्रमण्डलीय वन पदाधिकारी को इस सम्बंध में निदेश दिया गया कि विभागीय गाइड लाईन को देखते हुए अथवा विभाग से बात कर इस पर शीघ्र कार्रवाई करें.

इसे भी पढ़ें: सारण जिला कांग्रेस ने फूंका मोदी, योगी का पुतला

आयुक्त के द्वारा छपरा में बनाये जा रहे डबलडेकर के बारे पूछने पर परियोजना निदेशक, पुल निर्माण निगम ने बताया कि पायलिंग का कार्य चल रहा है. कुल 1575 पायलिंग कराना है जिसमें 257 पायलिंग अभी तक किया गया है. पायलिंग का कार्य पहले पुलिस लाईन के तरफ से प्रारम्भ किया गया. अभी राजेन्द्र सरोवर के तरफ से पायलिंग का कार्य कराया जा रहा है. अधीक्षण अभियंता ग्रामीण कार्य विभाग, कार्य अंचल, छपरा के द्वारा बताया गया कि जिला में कुल 24 योजनाओं को एवं कार्य को भी ली गई थी, जिसमें दो पूर्ण तथा 22 अपूर्ण है. कार्य अंचल सिवान में कुल 85 योजना ली गई थी जिसमें 57 पूर्ण है. जब की 28 अभी अपूर्ण है. आयुक्त के द्वारा अपूर्ण योजनाओं को समयावधि में पूर्ण कर लेने का निदेश दिया गया.

बैठक में आयुक्त के सचिव अजय कुमार सिन्हा, सभी अधीक्षण अभियंता एवं आयुक्त कार्यालय के प्रशाखा पदाधिकारी आदि उपस्थित थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें