महाराजगंज लोक सभा क्षेत्र में 207 सेक्टर पदाधिकारियों के हाथ में होगी कमान: डीएम

Chhapra: आगामी 25 मई को महाराजगंज लोक सभा के लिए आयोजित छठे चरण के चुनाव के लिए आयोजित मतदान के निमित सेक्टर और पुलिस पदाधिकारियों की संयुक्त ब्रीफिंग बुधवार को जिला प्रेक्षा गृह में आयोजित की गयी.
समान्य प्रेक्षक महोदया ने चुनाव के पहले, चुनाव के दिन और चुनाव पश्चात की जाने वाली तैयारी, कार्य और सावधानी पर विस्तार से प्रकाश डाला. उन्होंने कहा कि कल हुए सारण लोक सभा चुनाव से सीख लेते हुए महाराजगंज की तैयारी को चुस्त दुरुस्त करना है.
सतर्कता को बढ़ाना है. ताकि अफरातफरी और संवादहीनता की स्थिति उत्पन्न न हो सके. उन्होंने बूथ पर किसी प्रकार के तस्वीर या सूचना को सफेद चार्ट पेपर से ढकवाने, 100 मीटर के दायरे को व्हाइट पाउडर से चिन्हित करने, बूथ पर प्रवेश और निकास को चिन्हित कराने, पीओ के अलावा किसी के भी मोबाइल को बूथ में अलाउ नहीं करने का निदेश दिया. कितने लोगों ने ईपिक के अलावा अन्य डॉक्यूमेंट से वोट किया इसकी लिखित रिपोर्ट देंगे. यह स्क्रूटिनी का हिस्सा होता है. इसलिये विशेष सावधानी रखेंगे. जब भी आप संबद्ध बूथ का भ्रमण करें विजिट शीट पर इंट्री अवश्य करें.
एएमएफ की कमी को दूर करते हुए इसकी लिखित सूचना और सर्टिफिकेट कल शाम तक एआरओ को देंगे. मतदान के दिन अपनी रिपोर्ट भरने के साथ ही समय समय पर पीओ से भी पूछते रहेंगे. बाजार समिति में आ कर न भरें. उन्होंने सभी को शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराने की अग्रिम शुभकामनाएं दीं.
निर्वाची पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने स्टेपवार कार्य बताते हुए कहा कि यहां से निकल कर सीधे बूथ पर जाएं. न्यूनतम सुविधाओं को ठीक कराएं. क्षेत्र भ्रमण कर लोगों की कॉन्फिडेंस बिल्डिंग करें. विद्यालय के अलावा अन्य भवनों में बनाए गए बूथ पर विशेष ध्यान रखें. पार्टी मिलान के दिन अपने बूथ की सभी टीम से मिलकर नंबर एक्सचेंज कर लेंगे. सामग्री प्राप्ति में टीम को सहयोग करेंगे।
तत्पश्चात पुनः क्षेत्र भ्रमण को जाएंगे. चुनाव के एक दिन पूर्व डिस्पैच सेंटर पर पहले पोलिंग पार्टी को इवीएम प्राप्त करने में सहयोग करेंगे. उसके पाश्चात अपना रिज़र्व इवीएम प्राप्त करेंगे. इवीएम प्राप्त करते ही बिलकुल सेंटिसाइज हो जाएंगे. सीधे चिन्हित स्थल पर ही रुकेंगे. आपके भोजन पानी की व्यवस्था वहीं की गयी है.
उन्होंने कहा कि पोल डे को मॉक पोल के पूर्व बूथ पर पहुंच जाएं. फॉर्मेट पर पोलिंग एजेंट का हस्ताक्षर, सीआरसी करने, पर्ची निकालने, काले लिफाफे में सील करने, समय समय पर वीटीआर अपडेट करने के बारे में पूछते रहें. कहीं पोलिंग एजेंट न हो या मशीन रिप्लेस करने की सूचना कंट्रोल रूम को अवश्य दें. वीटीआर की रिपोर्ट एक्यूरेट करें. सुबह और शाम के समय अधिक सतर्क हो जाएं.
लाइन में अधिक मतदाता की सूचना एआरओ और कंट्रोल रूम को तुरंत दें. ताकि वहां क्युआरटी को भेजा जा सके. अपनी सुरक्षित मशीनों को जमा करने के लिए सीधे सदर प्रखंड के निकट अवस्थित वेयरहाउस जाएं. वहां अपनी मशीन और फॉर्मेट जमा कर बाजार समिति जाएंगे. बाजार समिति केवल पोल्ड मशीनें जाएंगी. वहां अपनी टीम की मशीनें जमा करने के बाद ही स्थान छोड़ेंगे. उप निर्वाचन पदाधिकारी ने प्राप्त मशीन, मॉक पोल के दौरान बदली जाने वाली मशीन, वास्तविक मतदान के दौरान बदली जाने वाली मशीन, वापसी की मशीन तथा वीटीआर का अलग अलग फॉर्मेट भरने का प्रशिक्षण दिया.
मौके पर पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, नगर आयुक्त आदि उपस्थित थे.
0Shares
A valid URL was not provided.