मद्य निषेध अभियान का कड़ाई से अनुपालन का डीएम ने दिया निर्देश, कोताही होने पर नपेंगे संबंधित अफसर

मद्य निषेध अभियान का कड़ाई से अनुपालन का डीएम ने दिया निर्देश, कोताही होने पर नपेंगे संबंधित अफसर

छपरा: डीएम ने 1 अप्रैल से शुरू हो रहे मद्य निषेध अभियान कार्यक्रम की भी समीक्षा की और उत्पाद अधीक्षक को सख्त निर्देश दिया कि इस अभियान को पूर्ण सफल बनाने हेतु सभी तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाएं और इसमें किसी भी स्तर पर कोई कोताही हुयी तो सीधे संबंधित अफसर नपेंगे. उन्होंने इसके लिए आवश्यक चेक पोस्ट, वैरियर, वाहन इत्यादि की आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कर लेने का भी निर्देश दिया. डीएम ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों, बैंकर्स को निदेश दिया कि वे भी अपने स्तर से इस अभियान की सफलता हेतु जागरूकता पैदा करने के लिए अपने-अपने कार्यालयों में मद्य निषेध से संबंधित नारों/फ्लैक्सों को प्रदर्शित करें तथा अपने मिलने-जुलने वाले लोगों से या क्षेत्र भ्रमण के क्रम में लोगों से वर्ग वात्र्ता कर इस अभियान को पूर्णतः सफल बनाने हेतु उत्प्रेरित करें.

डीएम ने समीक्षा के क्रम में सभी निकासी एवं व्ययन पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि 31 मार्च के पूर्व अपने स्थापना के सभी कर्मियों का जिनका आवंटन उपलब्ध है, का वेतन/मानदेय भुगतान हर हाल में सुनिश्चित किया जाए. यदि आवंटन रहते हुए फरवरी 2016 का वेतन/मानदेय भुगतान किसी भी कर्मी का कोई विशेष कारण न रहते हुए लंबित रहेगा तो संबंधित निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई होगी. डीएम ने कहा कि यदि किसी निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी को कोषागार में विपत्र पारित कराने में किसी प्रकार की कोई कठिनाई हो तो अपर समाहर्ता राजेश कुमार के नेतृत्व में धावा दल गठित है. कोई भी निकासी व्ययन पदांिधकारी उनसे सहयोग प्राप्त कर सकता है.

डीएम ने कहा कि सभी निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जो भी व्यय करने के पश्चात् राशि अवशेष बचती है उसे 31 मार्च के पूर्व प्रत्यार्पित कर दें. डीएम ने कहा कि 31 मार्च के बाद उनके द्वारा विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण प्रारंभ किया जाएगा. इसलिए सभी कार्यालय प्रधान अपने-अपने कार्यालयों की सभी पंजियों को अद्यतन कर लेना सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि 5 अप्रैल 2016 को सबसे पहले कार्यपालक अभियंता, पी0एच0ई0डी0 के कार्यालय का निरीक्षण किया जाएगा और शीघ्र ही स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन 1 एवं 2 के कार्यालय के निरीक्षण हेतु तिथी निर्धारित की जाएगी. डीएम ने कब्रिस्तान घेराबंदी की राशि व्यय नहीं करने पर स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन 2 के कार्यपालक अभियंता को जमकर फटकार लगायी. वहीं डुडा के कार्यपालक अभियंता को एकता भवन समेत हाई मास्क लाइट संस्थापन के कार्यो में तेजी लाने का भी निर्देश दिया.

डीएम ने बैंको के कार्यकलाप पर आज घोर नाराजगी व्यक्त की और अग्रणी बैंक प्रबंधक की क्लास लगायी. डीएम ने डी0डी0सी0 को निर्देश दिया कि जिले में कार्यरत सभी बैंको की रैंकिंग उनके कार्य आधार पर की जाए जिसमें सी0 डी0 रेसियो, सरकारी योजनाओं में बैंको की उपलब्धि इत्यादि शामिल हो. रैंकिंग के आधार पर प्रथम 5 बैंकों में ही सरकारी राशि रखी जाए और खराब प्रदर्शन करने वाले बैंकों से सरकारी राशि निकाल ली जाए.

डीएम ने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि वे रात्री में भी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का औचक निरीक्षण करें और वहां डाक्टर, नर्स एवं अन्य कर्मियों की उपस्थिति की जांच करें. बैठक में परवरिश योजना, अल्पसंख्यक कल्याण, आर0टी0पी0एस0, नगरपरिषद् , शिक्षा विभाग समेत सभी विभागों की समीक्षा हुयी और डीएम ने बेहतर क्रियान्वयन का निर्देश दिया. बैठक में उप विकास आयुक्त सुनील कुमार, अपर समाहत्र्ता राजेश कुमार समेत जिला स्तरीय सभी विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे.

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें