धानौरा मे आयोजित रामकथा मे बह रही भक्ति की बयार 

धानौरा मे आयोजित रामकथा मे बह रही भक्ति की बयार 

गडखा: प्रखंड के कोठिया-नरांव के धनौरा मे चल रहे रूद्र महा यज्ञ के प्रांगन मे मंच से राम कथा श्रवण करने वालो की जन शैलाब उमर रही है. मंच से श्रीराम चंद्र जी के महिमा का गुणगान करते हुए अयोध्या के प्रख्यात कथा वाचक पवन दास शास्त्री ने यज्ञ के पाॅचवे दिन रविवार को रात्रि मे कहा कि राम जी से बैर भाव रखते हुए भी रावण का नाम अमर हो गया. क्योकि राम ने अधर्मी का वध कर राम राज कायम कर आम लोगो को सुकून दिया था. रावण को आज हम राम के चलते याद करते है और जबतक श्रृष्टि रहेगी याद करते रहेंगे. रावण जैसे अधर्मी का भी मोक्ष और उद्धार हुआ. रामजी से जुडे हर लोग सदा के लिए याद किए जाते रहेंगे. उनके पिताजी को भी हम याद करते है क्यो ! क्योकि वे श्रीराम के जन्मदाता थे. उनके प्रसंग को सुनकर लोग आत्म विभोर हो गये और उनके कथा मे छूपी शित्श्क्षा को ग्रहण करते हुए राम के जीवन चरित्र पर चलने की गुर सीखी. कथा के साॅथ उनके मनोरम भजन भी मन भावन था.
राम का नाम लेकर जो मर जायेंगे
वो अमर नाम दुनिया मे कर जायेंगे।
यह भजन उपस्थित जन समुदाय को कथा वाचक के साॅथ झूमने पर विवश कर दिया. लोग देर रात तक कथा श्रवण किए उसके बाद बक्सर से आए राम मंडली का स्वागत पुर्व मुखिया धनंजय सिंह उर्फ टुनटुन सिंह, जिला परिषद सदस्य प्रतिनिधि सह भाजपा नेता अजय मांझी, पंचायत के सरपंच आदित्य सिंह दीक्षित, पंचायत समिति सदस्य जालंधर ठाकुर एवं रनंजय सिंह द्वारा राममंडली के सदस्यों को सम्मानित किया गया. उसके बाद सबने राममंडली का आनन्द देर रात तक सबने लुत्फ उठाया.

0Shares

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें