लाल बालू: पुलिस छावनी में तब्दील हुआ डोरीगंज, स्थिति सामान्य

लाल बालू: पुलिस छावनी में तब्दील हुआ डोरीगंज, स्थिति सामान्य

Chhapra: लाल बालू के खेल में सारण जिला प्रशासन व स्थानीय बालू व्यवसायियों के बीच हुई झड़प में दर्जनों लोग घायल हो गए है. जिसमें पुलिसकर्मी भी शामिल है. बीती रात को पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक घरों में घुस कर बुजुर्ग, युवा, महिला व बच्चों की पिटाई के विरोध में सारण जिला ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेन्द्र राय के नेतृत्व में स्थानीय बालू व्यवसायी व आक्रोशित ग्रामीणों द्वारा खलपुरा, भिखारी मोड़, लोदीपुर, तिवारी घाट व डोरीगंज थाना क्षेत्र के कई जगहों पर टायर जला सरकार विरोधी नारे लगाए गए तथा नीतीश कुमार मुर्दाबाद के भी नारे लगाये गए है.

राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा सोमवार को डोरीगंज के दरियावगंज घाट से बालू उठाकर पटना ले जाने के विरोध में बालू व्यवसायी व मजदूरों द्वारा छपरा-पटना तथा आरा छपरा पुल को जाम कर दिया. साथ ही भिखारी मोड़ के समीप टायर जलाकर सरकार विरोधी नारे लगाए. राज्य सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन द्वारा ट्रक पर बालू लोड कराया जा रहा था. जिसका विरोध स्थानीय बालू व्यवसायियों द्वारा किया गया. 

सड़क जाम की सूचना मिलने पर भारी संख्या में डोरीगंज थाना पर पुलिस बल व आला अधिकारियों का जमावड़ा हो गया. जिसके देख स्थानीय व्यवसायियों व मजदूरों में खलबली मच गई. जिसके विरोध में उग्र व्यवसायियों व मजदूरों ने आरा-छपरा पुल व छपरा-पटना मार्ग को अवरूद्ध कर दिया. कई सरकारी बसों व पत्रकार की मोटर साइकिल को भी क्षति पहुंचाया गया.

0Shares
Prev 1 of 226 Next
Prev 1 of 226 Next

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें