Covid19 टीकाकरण को लेकर जिलाधिकारी ने की जिलास्तरीय टाक्स फोर्स की बैठक

Covid19 टीकाकरण को लेकर जिलाधिकारी ने की जिलास्तरीय टाक्स फोर्स की बैठक

Chhapra: सारण समाहरणालय सभागार में आयोजित वैश्विक  महामारी कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए लगने वाले टीकाकरण से संबंधित जिलास्तरीय बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने टीकाकरण हेतु व्यापक स्तर पर तैयारी शुरु करने को कहा. बैठक में कोविड-19 के टीकाकरण के लिए पूर्व की तैयारी की समीक्षा की गयी.

जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर सबसे स्वास्थ्य कर्मियों को टीका देना है. निजी व सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में कार्यरत स्वास्थ्य कर्मियों का डेटा तैयार कर ससमय पोर्टल पर अपलोड करना सुनिष्चित करें. समीक्षा के दौरान सिविल सर्जन डॉ माधवेष्वर झा के द्वारा बताया गया कि स्वास्थ्य कर्मियों का डेटाबेस संबंधित पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है. डीएम ने निर्देष देते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों संख्या की समीक्षा कर शेष कर्मियों का डेटा जल्द से जल्द पोर्टल पर अपलोड कराना सुनष्चित करें.

इस दौरान डीएम ने कहा कि सीएस व अन्य पदाधिकारी प्रतिदिन प्रखंडों का भ्रमण करें और इस कार्य को गंभीरता से लेते हुए पूरा करना सुनिष्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में सभी स्वास्थ्य कर्मियों डोॅक्टर, नर्स, आषा, लैब टेक्निषियन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं छिड़काव कर्मियों का डाटा बेस तैयार किया जाना है. इसके साथ हीं निजी स्वास्थ्य संस्थानों में कार्यरत कर्मियों का भी डाटा पोट्रल पर अपलोड करना है. जिलधिकारी ने कहा कि शहरी क्षेत्र में टीकाकरण के लिए नगर आयुक्त को नोडल पदाधिकारी बनाया जायेग. जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभागों से समन्वय स्थापित कर कार्य करने की आवष्यकता है. इस कार्य में डब्ल्यूएचओ, केयर इंडिया, युनिसेफ, यूएनडीपी के साथ अन्य काई सहयोगी संस्थाओं की मदद ली जा रही है.

जिलाधिकारी ने कहा कि टीकाकरण के रख रखाव के लिए कोल्ड चेन रुम को दुरुस्त कर लिया जाय. इसके लिए जो आवष्यक उपकरण हो उसकी उपलब्धता सुनिष्चित की जाय. जिलाधिकारी के द्वारा जिला पशुपालन पदाधिकारी को निदेष दिया गया कि पशु अस्पताल के कोल्ड चेन को भी ठीक करा लिया जाय ताकि आवष्यकता पड़ने पर इसका उपयोग भी किया जा सके. जिलाधिकारी के द्वारा सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निदेष दिया गया कि अपने-अपने प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी से संपर्क कर प्रखंड स्तरीय टाक्स फोर्स की गठन की जाय तथा प्रत्येक सप्ताह तैयारी की समीक्षा की जाय.

जिलाधिकारी के द्वारा निदेष दिया गया कि सदर अस्पताल सहित सभी पीएचसी में सफाई व्यवस्था को सुद्वढ़ किया जाय। अगर साफ-सफाई में सुधार नही दिखता है तो कार्य करने वाली एजेंसी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि सदर अस्पताल के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों का भी रंग-रोगन करा लिया जाय. जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड केयर सेंटर में भी साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. जिलाधिकारी के द्वारा सिविल सर्जन को निदेष दिया गया कि कोरोना टेस्ट के दौरान पोजिटीव मरीज के लिए अलग रुम का व्यवस्था की जाय ताकि किसी व्यक्ति की रिर्पोट पोजिटीव आती है तो उसे उसी रुम में तत्काल शिफ्ट किया जा सके ताकि संक्रमण का प्रसार को रोका जा सके. पोजिटीव व्यक्ति को अगर होम आईसोलेशन, दूसरे अस्पताल या कोविड केयर सेंटर में ले जाने की जरुरत पड़ी तो उसे पीपीई कीट पहनाकर एम्बुलेंस के द्वारा भेजा जाय.

बैठक में अपर समाहर्त्ता विभागीय जाँच भरत भूषण प्रसाद, सिविल सर्जन  मा़धवेष्वर झा, जिला भू-अर्जन पदाधिकारीरजनीष कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, डॉ अजय कुमार सिन्हा, जिला शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार सिंह, डीपीओ आईसीडीएस  वंदना पाण्डेय, विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डॉ रंजीतेष कुमार एवं संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें