64,500 वर्ग मीटर में फैला ऐसा दिखेगा नया संसद भवन

64,500 वर्ग मीटर में फैला ऐसा दिखेगा नया संसद भवन

New Delhi: 10 दिसंबर को संसद के नए भवन का भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. इसका निर्माण कार्य अक्टूबर 2022 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है. देश की आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर संसद का सत्र नए भवन में आहूत किया जाएगा.

970 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले चार मंजिल के नए संसद भवन का कुल निर्मित क्षेत्र लगभग 64,500 वर्ग मीटर है. यह वर्तमान भवन से 17,000 वर्ग मीटर अधिक है.

नए संसद भवन में लोक सभा कक्ष भूतल में होगा, जिसमें 888 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी. राज्य सभा कक्ष में 384 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी. संयुक्त बैठकों के दौरान, कक्ष में 1272 सदस्य बैठ सकेंगे.

लोक सभा के स्पीकर ओम बिरला ने बताया कि नए भवन के निर्माण के बाद भी पुराने भवन का उपयोग जारी रहेगा. दोनों भवन एक-दूसरे के पूरक के रूप में कार्य करेंगे. पूरे निर्माण कार्य में मौजूदा भवन की ऐतिहासिक धरोहर के संरक्षण का भी पूरा ध्यान रखा जायेगा. नए संसद भवन के निर्माण के उपरांत यह भी प्रयास किया जा रहा है कि मूल संसद भवन की visibility में कोई अधिक अंतर न आये. संसद परिसर में स्थित सभी प्रतिमाओं को भी गरिमा एवं प्रतिष्ठा के साथ पुनः स्थापित किया जायेगा.

 

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें