लोकसभा चुनाव: जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने की तैयारियों की समीक्षा

Chhapra: लोकसभा आम निर्वाचन को लेकर सभी स्तरों पर तैयारियां जोर-शोर से की जा रही है। विभिन्न कोषांग, सहायक निर्वाची पदाधिकारी एवं अन्य स्तरों पर स्वच्छ एवं व्यवस्थित चुनाव के आयोजन हेतु आवश्यक तैयारी की जा रही है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह- जिलाधिकारी अमन समीर ने आज समाहरणालय सभागार में निर्वाचन से संबंधित तैयारियों की समीक्षा की।

विभिन्न कोषांगों द्वारा किये जा रहे कार्यों के बारे एक एक कर जानकारी ली गई तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया। कार्मिक कोषांग को, जिन कर्मियों के डेटाबेस में बैंक खाता नम्बर में त्रुटि है,इसका निराकरण कराकर शुद्ध सूची तैयार करने को कहा गया।

स्वास्थ्य से संबंधित समस्या के आधार पर चुनाव कार्य से छूट प्राप्त करने हेतु प्राप्त आवेदनों पर निर्णय लेने हेतु मेडिकल बोर्ड गठित किया जायेगा। आवेदन करने वाले कर्मियों के स्वास्थ्य की जाँच मेडिकल बोर्ड द्वारा की जायेगी। मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा पर ही किसी व्यक्ति को चुनाव कार्य से छूट दी जा सकेगी।

प्रशिक्षण कोषांग को अंतिम रूप से प्रशिक्षण कैलेंडर तैयार कर कर्मियों को ससमय प्रशिक्षण देने का निदेश दिया गया। ईवीएम कोषांग को प्रशिक्षण कार्य हेतु प्रयुक्त होने वाले ईवीएम के सीरियल नंबर के साथ आदेश निर्गत करने का निदेश दिया गया। यह सूची सभी राजनीतिक दलों के साथ भी साझा की जायेगी। बगैर जिला निर्वाचन पदाधिकारी के लिखित आदेश के ईवीएम का कोई भी मूवमेंट नहीं होगा। प्रतिदिन प्रशिक्षण के उपरांत ईवीएम को जिला कोषागार स्थित वज्रगृह में सुरक्षित रखा जायेगा।

विधानसभा वार तैयार किये जाने वाले डिस्पैच सेंटर पर निर्धारित एसओपी के अनुरूप सभी व्यवस्था अपनी देख रेख में सुनिश्चित कराने का निदेश सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारियों को दिया गया। निर्वाचन के दिन बूथ पर प्रयुक्त होने वाली सभी सामग्रियों की वास्तविक संख्या के आधार पर ससमय सभी सामग्रियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का निदेश सामग्री कोषांग के नोडल पदाधिकारी को दिया गया।

वाहन कोषांग को आंकलित वाहनों की आवश्यकता के अनुरूप मतदान दिवस से अधिकतम 5 दिनों पूर्व से वाहनों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने को कहा गया। केंद्रीय पुलिस बल एवं राज्य पुलिस बल के लिये भी ससमय आवश्यक वाहनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिये दो-दो फ्यूल स्टेशन को चिन्हित कर टैगिंग करने को कहा गया।

डिस्पैच सेंटर के वज्रगृह में 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे से निगरानी रखी जायेगी साथ ही 24×7 एक सेक्शन पुलिस बल तैनात रहेगी।सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी इसे सुनिश्चित करायेंगे।
चुनाव से संबंधित किसी भी पम्पलेट/पोस्टर पर मुद्रक एवं प्रकाशक का नाम अनिवार्य रूप से मुद्रित होना चाहिये। इस संबंध में सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को अपने क्षेत्र अंतर्गत सभी प्रिंटिंग प्रेस के साथ बैठक कर इस आशय की जानकारी देते हुये इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया।

सुव्यवस्थित मतदाता जागरूकता अभियान (स्वीप) के तहत प्रत्येक सप्ताह कमसे कम एक वृहत कार्यक्रम जिला एवं अनुमंडल स्तर आयोजित कराने का निदेश स्वीप कोषांग को दिया गया।
मतदान के उपरांत बाजार समिति स्थित ईवीएम कलेक्शन सेंटर पर ईवीएम के संग्रहण हेतु भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुरूप तमाम व्यवस्था अपनी देखरेख में कराने का निर्देश सभी

सहायक निर्वाची पदाधिकारी को दिया गया। साथ ही उन्हें मतगणना के अवसर पर विधानसभा वार निर्धारित मतगणना कक्ष में भी निर्धारित एसओपी के अनुरुप आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में उप विकास आयुक्त, नगर आयुक्त, अपर समाहर्त्ता, अपर समाहर्त्ता लोक शिकायत, सहायक समाहर्त्ता, उप निर्वाचन पदाधिकारी, विभिन्न कोषांगों के नोडल पदाधिकारी तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी आदि जुड़े थे।

0Shares
A valid URL was not provided.