जिला परिषद् अध्यक्ष और प्रमुख के लिए सदस्यों की गोलबंदी तेज

जिला परिषद् अध्यक्ष और प्रमुख के लिए सदस्यों की गोलबंदी तेज

छपरा: त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की प्रक्रिया पूरी तरह संपन्न हो चुकी है . मतों की गणना के बाद जहाँ सभी विजय जनप्रतिनिधि अपने मतदाताओ का धन्यवाद दे रहे है. इसी बीच में प्रखंड प्रमुख और जिला परिषद् अध्यक्ष के लिए जोर तोड़ भी शुरू हो गई है.

जिला परिषद् अध्यक्ष की कुर्सी की दावेदारी में इस बार कई दिग्गज शामिल होंगे. जिनका जिला परिषद् की राजनीति से पुराना नाता है. सभी उम्मीदवारों द्वारा जिला परिषद् सदस्यों को एकजुट करने की कवायद शुरू कर दी गयी है. अब तक करीब आधा दर्जन उम्मीदवार जिला परिषद् अध्यक्ष पद की दावेदारी को लेकर चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी में है.

सूत्रों की माने तो सबसे ज्यादा दावेदार मदौरा अनुमंडल में है. कई उम्मीदवारों ने तो अपने निर्धारित लक्ष्य 22 सदस्यों को अपने पक्ष में होने का दावा भी कर दिया है. जिला परिषद् अध्यक्ष की लड़ाई में सत्ता पक्ष और विपक्ष का भी अप्रत्यक्ष रूप से अहम् योगदान  देखने को मिलता है. लेकिन अब तक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सत्ता पक्ष से ही अधिक उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपना भाग्य आजमाएंगे. कई उम्मीदवार ने तो पटना तक का सफ़र तय कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए 20-22 सदस्यों की सहमती दिखाकर आश्वासन भी ले लिया है. हालाकि किसके पक्ष में और विपक्ष में कितने सदस्य है यह तो मतदान के दिन ही तय होगा. फिलहाल अभी तिथि की घोषना नही हुयी है लेकिन युद्धस्तर  पर गोलबंदी तेज है.

सारण जिले के बीस प्रखंडो में इन दिनों प्रखंड प्रमुख के लिए दौरा शुरू है. प्रमुख के लिए भावी उम्मीदवार अपने पंचायत समिति सदस्य को गोल बंद कर रहे है. तरह तरह के लुभावने वादों का हवाला देकर वह किसी तरह उनका मत अपने पक्ष में करने के फ़िराक में है. सुबह एक तो दोपहर में कोई और तो फिर शाम में नये उम्मीदवारों और उनके समर्थको का आना जाना लगा रह रहा है. सदस्य भी उहा पोह की स्थिति में है चुनाव के बदल रहे स्वरूप को लेकर असमंजस में है. कई  भावी उम्मीदवार तो इस चुनाव को लेकर पटना और दिल्ली तक की दौड़ लगा रहे है. हालाकि कई प्रखंडो में अन्दर ही अन्दर यह निर्णय किया जा चूका है कि प्रमुख का ताज किसके सर होगा.

विदित हो की जिला परिषद अध्यक्ष पद महिलाओं के लिए आरक्षित है साथ ही छोटी कुमारी के चुनाव हारने के बाद सारण के अध्यक्ष की कुर्सी किसी नए सदस्य को जाना तय माना जा रहा है. परसा भाग-1 से छोटी कुमारी को हराकर उलटफेर करने वाली स्नेहा सिंह तथा मढ़ौरा भाग-1 से चयनित पूर्व विधायक स्व.रामप्रवेश राय की पत्नी पतासो देवी की जिलापरिषद अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवारी जिले में चर्चा का विषय बना है.

0Shares
Prev 1 of 186 Next
Prev 1 of 186 Next

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें