TET परीक्षार्थियों पर टूटा पहाड़, 6 साल बाद मिला मौक़ा लेकिन प्रश्नपत्र वायरल

TET परीक्षार्थियों पर टूटा पहाड़, 6 साल बाद मिला मौक़ा लेकिन प्रश्नपत्र वायरल

पटना: शिक्षक बनने के लिए आवश्यक शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन रविवार को सूबे में किया गया. छह साल बाद राज्य में इस परीक्षा का आयोजन किया गया.

पूरे बिहार में लगभग 2,43,459 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हो रहे हैं. इसके लिए पूरे सूबे में कुल 348 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं.

शिक्षक पात्रता परीक्षा शुरू होते ही राज्‍य के कई जगहों से प्रश्नपत्र लीक होने की खबरें मिलने लगी.

परीक्षार्थियों के कहना है कि जमुई जिले में शिक्षक पात्रता परीक्षा के वायरल प्रश्न पत्र व उत्तर सही पाए गए है. उधर जमुई के एसडीओ सुरेश प्रसाद ने बताया कि मिलान करने पर कई प्रश्न व उत्तर सही मिला.इसकी जांच की जा रही है.

सोशल मी‍डिया पर 54 पेज का प्रश्‍नपत्र वायरल हो रहा है.वहीं आंसर सीट भी वायरल हो रहा है.

हालांकि बोर्ड के उच्च अधिकारी फिलहाल इस बारे में कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं.

वहीं प्रश्न पत्र वायरल होने की चर्चा से एक बार फिर इस परीक्षा पर संकट मंडराने लगा है. पर्चा लीक से जहां परीक्षार्थी टेंशन में हैं, वहीं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति भी परेशान है.

इससे पहले भी बिहार में हुई कई बड़ी परीक्षाओं से जुड़े प्रश्न पत्र सोशल मीडिया में वायरल होने की खबर आई थी, जिसमे कुछ में सच्चाई थी तो कुछ महज अफवाह था.

अफवाह फ़ैलाने वाले को प्रशासन की ओर से सख्त हिदायत भी दी गई है कि फर्जी तरीके से किसी भी परीक्षा संबंधित प्रश्न पत्र को सोशल मीडिया में वायरल कर अगर अफवाह फैलाया गया तो वैसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इसके बावजूद इसके प्रश्न पत्र वायरल होने का मामला थम नहीं रहा है.

पहली पाली की परीक्षा समाप्‍त हो चुकी है. इस दौरान आठ परीक्षार्थी को विभिन्‍न जगहों से गिरफ्तार किया गया है. पांच परीक्षार्थी दूसरे के बदले परीक्षा दे रहे थे तो वहीं तीन इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरण का इस्‍तेमाल करते पकड़े गये.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें