शराबबंदी बिहार में एक नई क्रांति की शुरुआत: अशोक चौधरी

शराबबंदी बिहार में एक नई क्रांति की शुरुआत: अशोक चौधरी

पटना: बिहार के 105 वें स्थापना दिवस पर राजधानी का गांधी मैदान नशा मुक्ति को समर्पित हैं. समस्त गांधी मैदान में सरकार के विभिन्न विभाग द्वारा स्टॉल लगाकर जनहित के सरकारी कार्यो की जानकारी दी जा रही हैं. 

नशा मुक्ति अभियान में महत्पूर्ण भूमिका निभाने वाले जन शिक्षा निदेशालय द्वारा पवेलियन बनाया गया है.सूबे के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने पवेलियन का उद्घाटन किया. इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि सूबे में शराब बंदी की सराहना हो रही.

पुरे देश में कई क्रांति की शुरुआत करने वाले बिहार ने एक बार फिर शराबबंदी कानून बनाकर नई क्रांति की शुरुआत की हैं.उन्होंने साक्षरता कर्मियों के कार्यो को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि शराबबंदी को सफल बनाने में आप सबकी अहम् भूमिका हैं.

माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नशा मुक्त बिहार के निर्माण की लड़ाई के सेनापति थे और आप सब सैनिक. उन सैनिकों को सलाम जिनकी बदौलत बिहार ने एक नई तस्वीर की रचना की. उन्होंने 21 जनवरी को बनाई गई मानव श्रृंखला निर्माण में सबो के सहयोग को भी धन्यवाद दिया.

वही शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव डॉ आर के महाजन ने सबो को बिहार दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि किसी भी लड़ाई में जीत पर सेनापति को सम्मान दिया जाता है.लेकिन लड़ाई का मुख्य पात्र सैनिक है जो रणक्षेत्र में लड़ता है.सैनिक के कार्य और सेनापति की बेहतर रणनीति से हर लड़ाई में विजय संभव है.

इस मौके पर सहायक सचिव शिक्षा विभाग विकास कुमार, SCERT निदेशक संजीवन सिन्हा, निदेशक जन शिक्षा विनोदानंद झा के साथ सहायक निदेशक जन शिक्षा ग़ालिब खान सहित हज़ारो साक्षरता कर्मी मौजूद थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें