कोरोना के कारण आर्थिक संकट झेल रहे है बहुरूपिया कला से जुड़े लोग

कोरोना के कारण आर्थिक संकट झेल रहे है बहुरूपिया कला से जुड़े लोग

नई दिल्ली: प्राचीन बहुरूपिया कला को जो अब लुप्त होने के कगार पर है. कोरोना काल में इस कला से जुड़े कलाकारों को विगत साल भर से आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

कलाकार को कोरोना में आयोजन ना होने से कोई काम नही मिल रहा है जिससे उनके सामने आर्थिक संकट गहरा गया है.

राजस्थान के दौसा जिले के शिवराज बहरूपिया और उनके बेटों ने इस कला को इंटरनेशनल स्तर तक पहुंचाया. कला के माध्यम से विदेशों में भी  अपने गांव का नाम रोशन किया.

इस कला को जीवंत रखने में जुटे फरीद बहरूपिया कहते है कि मौजूदा दौर में कोरोना संकट के बीच देश में कल्चरल इवेंट्स बिल्कुल बंद है. साथ ही लॉकडाउन के कारण आसपास के गांव में भी बाहरी की एंट्री बंद होने से कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन नही कर पा रहे है. अपनी कला का प्रदर्शन कर जीवन यापन करने वाले बहुरूपिया सरकार से आर्थिक मदद की आस लगाए हुए है.

देखना होगा कि इनकी मदद के  लिए राजस्थान और केंद्र सरकार कब तक कुछ सार्थक कदम उठाती है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें