मिलनसार, हरदिल अजीज और तेजतर्रार थे ASI मिथिलेश साह

मिलनसार, हरदिल अजीज और तेजतर्रार थे ASI मिथिलेश साह

Chhapra: कर्तव्य पथ पर वीरगति को प्राप्त हुए शहीद ASI मिथिलेश कुमार साह को याद कर लोग उनके मिलनसार और हरदिल अजीज होने की बातें बता रहे है.

दिवंगत मिथिलेश शाह सारण जिले के जिस भी थाने में तैनात रहे वहां के लोगों से घुलमिल जाते थे. वे सारण जिले के जनता बाज़ार, बनियापुर और तरैया थाना में थानाध्यक्ष के रूप में तैनात रहे, जिसके बाद उन्हें एसआईटी में तैनात किया गया. अपनी कार्यकुशलता के बदौलत वे एसआईटी की जान बन गए थे. इस दौरान उन्होंने कई अपराधियों को पकड़ा, कई कांडों के उद्भेदन किये.

इसे भी पढ़ें: राजेन्द्र कॉलेज के गार्ड को अपराधियों ने मारा चाकू, हवाई फायरिंग करते हुए भागे

शहीद मिथिलेश कुमार भोजपुर जिला मुख्यालय आरा के नगर थाना क्षेत्र के मझौआ बांध निवासी थे. पिता दशरथ साह भी पुलिस सेवा में थे और सब-इंस्पेक्टर पद से रिटायर्ड हुए. चार भाई में मिथिलेश तीन नम्बर पर थे. एक भाई शिक्षक है. वही एक बिहार मिलिट्री पुलिस और दूसरा भभुआ में पुलिस में तैनात है.

इसे भी पढ़ें: सारण में अपराधियों के हौसले बुलंद, नहीं दिख रहा पुलिस का खौफ

2009 में पुलिस विभाग में किया था ज्वाइन

मिथिलेश ने 2009 में पुलिस विभाग को ज्वाइन किया था. उनकी पहचान ईमानदार और तेजतर्रार दरोगा के रूप में रही है. उनकी हत्या से उनके चाहने वालों गमगीन है. जनता बाज़ार से कुछ युवक सदर अस्पताल पहुंचे थे. युवकों ने बताया कि शहीद मिथिलेश ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी थे. वे जहाँ भी रहे वहां के लोगों के साथ मिल के रहे. सभी उनकी हत्या से मर्माहत है. वही परिवार वालों का बुरा हाल है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें