ट्रैफिक सिग्नल मुक्त शहर निर्माण की कवायद शुरू

ट्रैफिक सिग्नल मुक्त शहर निर्माण की कवायद शुरू

Kota: भारत मे देश का पहला ट्रैफिक सिग्नल मुक्त शहर बनाने की कवायद शुरू हो चुकी है. कोटा में तैयार किया जा रहा चंबल रिवर फ्रंट जो बनेगा भारत का पहला ट्रैफिक सिग्नल मुक्त शहर.

कोटा शहर में करीब 700 करोड़ की लागत से तैयार किये जा रहे इस चंबल रिवर फ्रंट के तहत कोटा शहर को ट्रैफिक सिग्नल मुक्त करने की प्‍लानिंग है. इसके तहत जहां कोटा शहर को ट्रैफिक सिग्नल मुक्त किया जाएगा, वहीं यहां दुनिया की सबसे बड़ी घंटी लगाये जाने की भी तैयारियाँ कर ली गई हैं.

शहर के लिए ऐसी योजना बनाई गई है, जिससे सड़क पर चलने वाले वाहन चालकों को चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल की वजह से ठहरना नहीं पड़ेगा. इसके लिए चौराहों पर फ्लाईओवर और अंडरपास तथा एलिवेटेड रोड बनाये जाएंगे.

कोटा में इस प्रोजेक्ट के तहत गीता के श्लोकों पर आधारित स्कल्पचर्स के साथ ही हाड़ा रानी और पन्नाधाय की कहानी तथा सिंह और घड़ियाल के स्कल्पचर्स भी लगाये जाएंगे.

चंबल रिवर फ्रंट के किनारे माता चर्मण्यवती की 40 फीट ऊंची प्रतिमा लगाई जाएगी. सूत्रों की माने तो शहर को सुंदर बनाने के लिए इस योजना को जल्द से जल्द मूर्त रूप दिया जाएगा. जिसको लेकर तैयारी की जा रही है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें