‘सुरों के सरताज’ का खिताब आशीष ने किया अपने नाम, ग्रैंड फिनाले में मारी बाजी

‘सुरों के सरताज’ का खिताब आशीष ने किया अपने नाम, ग्रैंड फिनाले में मारी बाजी

Chhapra: भोजपुरी गीतों में अश्लीलता के खिलाफ भोजपुरिया माटी संस्था के द्वारा आयोजित भोजपुरी गायन प्रतियोगिता सुरों के सरताज के ग्रैंड फिनाले का भव्य आयोजन सेंट्रल पब्लिक स्कूल मे संपन्न हुआ. जिसमे आशीष कुमार ने खिताब अपने नाम किया.

ज्ञात हो कि पिछले एक महिने से हर प्रखंड से बच्चो का आडिसन लिया जा रहा था, जिसमें शिर्ष पांच प्रतिभागी ग्रैंड फिनाले में पहुंच कर अपनी प्रस्तुति दियें.

इस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडली में वराणसी के निर्गुण सम्राट मदन राय, पटना के मशहूर लोक गायक सत्येंद्र संगीत, पटना से स्थापित लोक गायिका मनीषा श्रीवास्तव, संगीत के आचार्य पंडित गुरू राम प्रकाश मिश्र, बलिया के शशी आनाड़ी, भोजपुरी के धरोहर उदय नारायण सिंह शामिल थे.

जिन्होंने छपरा के पहले सुरों का सरताज के लिए आयुष मिश्रा का चयन किया. दूसरे पायदान पर सुश्री सलोनी ने कब्जा किया, तो वहीं तीसरे स्थान पर विनीत विशाल को जगह मिला. इस प्रतियोगिता में मुख्य रूप से लोकगीत, पारंपरिक गीत, सांस्कार गीत, निर्गुण, चैता जैसे गीतों को प्रमुखता दिया गया था. जिसको प्रतिभागियों ने अपनी आवाज से बखुबी निभाया और दर्शकों का मन मोह लिया.

उक्त मौके पर सेंट्रल पब्लिक स्कूल के निदेशक हरेंद्र सिंह ने सभी अतिथियों का सम्मान भोजपुरिया माटी संस्था के समृति चिन्ह प्रदान कर किया. इस कार्यक्रम को सफल बनाने में रंजीत भोजपुरिया, सौरभ नागवंशी, कृष्णा फाउंडेशन के कन्हैया लाल सिंह, सेंट्रल पब्लिक स्कूल के प्रबंधक विकास सिंह एवं प्राचार्य मुरारी सिंह की अहम भूमिका थी. संस्था के संयोजक उज्जवल निर्मल इस कार्यक्रम के सफल पूर्वक संपन्न होने पर धन्यवाद भी दिया.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.