सरकार सेवा शर्त का प्रकाशन करें वार्ना गद्दी छोड़ें : समरेंद्र

सरकार सेवा शर्त का प्रकाशन करें वार्ना गद्दी छोड़ें : समरेंद्र

छपरा: समान काम के लिए समान वेतन और सेवा शर्त प्रकाशन की मांग को लेकर बिहार परिवर्तनकारी शिक्षक संघ की सारण इकाई द्वारा धरना दिया गया.

स्थानीय नगरपालिका चौक पर आयोजित इस धरने में जिले के सभी प्रखंडों से हजारों शिक्षक ने भाग लिया.

धरने को संबोधित करते हुए जिला परिषद अध्यक्ष मीणा अरुण ने सरकार से शिक्षकों की समस्या का जल्द से जल्द निवारण करने की मांग की.

वही विधायक जितेंद्र राय ने कहा कि शिक्षक को राष्ट्र निर्माता कहा जाता है लेकिन वर्तमान समय मे शिक्षकों को अपने हक के लिए धरना प्रदर्शन करना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि शिक्षकों के वेतन भुगतान की मांग को लेकर उनके द्वारा भी शिक्षा पदाधिकारियों से बात की गई है और आगे भी वह शिक्षकों के हमेशा साथ रहेंगे.

वही जिलाध्यक्ष समरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि सरकार शिक्षकों के बहला फुसला रही है. विगत कई वर्षों से सेवा शर्त का निर्माण किया जा रहा है लेकिन अब तक सेवा शर्त का प्रकाशन नही हुआ है.

शिक्षक नेता ने कहा कि सरकार अगर शिक्षकों का काम नही करती है तो वह इस्तीफ़ा दें.

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि राजद सुप्रिमों ने तो उनको छोड़ दिया लेकिन शिक्षक समाज मुख्यमंत्री को अपनी समस्याओं के समाधान किये बिना नही छोड़ेगा.

धरने के दौरान ही रास्ते से गुजर रहे सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा को भी शिक्षकों के आक्रोश का सामना करना पड़ा.

धरने पर बैठे शिक्षक मंत्री के वाहन के आगे ही बैठ गए जिसपर मंत्री ने उनको पास बुलाया और उनकी मांगों को सुना.

धरने के बाद शिक्षक संघ के एक प्रतिनिधि मंडल ने जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद से मिलकर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा.जिसमे सरकार से सेवाशर्त प्रकाशन और सामान कार्य के लिए सामान वेतन की मांग की.

धरने को मुख्य रूप से संबोधित करते हुए मुकेश कुमार, विकास कुमार, सुलेखा कुमारी ने सरकार का शिक्षकों के प्रति सोच को बदलने की मांग की.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें