विवेकानंद इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल के 34 छात्र-छात्राओं ने सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल कर लहराया परचम

Chhapra: सारण जिले के छपरा शहर में स्थित सुप्रसिद्ध शैक्षिक संस्थान ‘विवेकानंद इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल’ के 41 में से 34 नियमित छात्र-छात्राओं ने ऑल इंडिया सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024′ की प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल कर परचम लहराया।

सफलता हासिल करने वाले विद्यार्थियों में अभिनव सिंह, आदित्य सिंह, अंकित सिंह, दीक्षा कुमारी, अभिनव कुमार, आरोही सिंह, आदर्श सिंह, श्रीयांश गुप्ता, सिद्धि सिंह, रूमित कुमार, रितेश राज, ऋषभ राज, रवि सिंह, प्रीतम कुमार, प्रफुल आदित्य, मो० हुजैफा, हर्षित पंडित, युवराज सिंह, सुरभि कुमारी, आयुष्मान साह, आयूष राज, आयूष राज, अंकित कुमार, शुभम मिश्र, विक्रांत यदुवंशी, कुणाल गौरव, आशीष साह, नवीन सिंह, अनुराग कुमार, कृष्णा रचित, अंश उपाध्याय, आयूष उपाध्याय एवं परिधि कुमारी जैसे मेधावी छात्र/छात्रा हैं।

इन उत्तीर्ण विद्यार्थियों में 12 विद्यार्थी ऐसे हैं जो 250 से अधिक श्रेष्ठ अंकों से उत्तीर्ण हुए हैं। संस्थान के निदेशक महोदय डॉ० राहुल राज ने बताया कि ये उत्तीर्ण विद्यार्थी इस मुकाम तक पहुंचने के लिए निरंतर प्रयासरत थे। जिसमें विद्यालय परिवार के सभी योग्य एवं अनुभवी शिक्षक/शिक्षिकाओं का उनकी तैयारी में अतुलनीय योगदान रहा है। ये वही बच्चे हैं जो विद्यालय के डे-बोर्डिंग कक्षा में निरंतर 4 वर्षों से अध्ययनरत रहे हैं, जिसमे विद्यालय के योग्य एवं अनुभवी शिक्षकों का विशिष्ट योगदान रहा।

इस प्रवेश परीक्षा का परिणाम आने तथा इन विद्यार्थियों की उत्तीर्णता की सूचना प्राप्त होते ही पूरे विद्यालय परिवार में खुशी की लहर दौड़ उठी। सभी में उत्साह का एक नया रंग देखने को मिला। विद्यालय की प्राचार्या ने इन प्रतिभाशाली उत्तीर्ण छात्र/छात्राओं को अपना शुभाशीष प्रदान करते हुए कहा कि इन बच्चों ने प्रारम्भ काल से ही अपनी शिक्षा को प्राथमिकता दिया है, यदि इंसान दृढसंकल्पित हो तो निश्चय ही वह सफलता प्राप्त कर सकता है, जिसका जीता-जागता उदाहरण ये बच्चे हैं।

विद्यालय के निदेशक सह भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ० राहुल राज तथा अध्यक्ष विपिन कुमार सिंह ने भी इस हर्षित बेला में अपने प्रशंसित शब्दों में कहा कि ये उत्तीर्ण बच्चे उन सभी बच्चों के लिए एक मिशाल है जो अपने भविष्य के सुनहरे सपनों को लिए अध्ययनरत हैं। आज की तारीख में लड़के-लड़कियां सभी प्रत्येक क्षेत्र में आगे हैं, बस जरूरत है सही दिशा और मार्ग-दर्शन की, जो उसे अपने परिवार और शिक्षकगणों से बखूबी प्राप्त हो सकता है। इन बच्चों की इस सफलता से पूरे विद्यालय में उत्साह और प्रसन्नता का माहौल कायम है।

0Shares
A valid URL was not provided.