सारण अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोह: 8 देशों की 40 फिल्में होगी प्रदर्शित

सारण अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोह: 8 देशों की 40 फिल्में होगी प्रदर्शित

Chhapra: सारण की धरती पर पहली बार होने जा रहे सारण अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोह की तैयारियां जोरों पर हैं. समारोह की टीम ने युवाओं के बीच में अपनी कैंपेनिंग शुरू कर दी है. उद्देश्य ये है कि ज़्यादा से ज़्यादा युवा इस आयोजन में बढ़ चढ़ के हिस्सा लें और इस सांस्कृतिक बदलाव से जुड़ें.

फेस्टिवल डायरेक्टर छपरा के अभिषेक अरुण ने इस पूरे आयोजन की ज़िम्मेदारी अपने कंधे पर ली है और इसकी तैयारी उन्होंने पिछले एक साल से हीं शुरू कर दी थी.

उन्होंने ने बताया कि ” ये आयोजन मेरा आयोजन नहीं है , बल्कि पूरे छपरा और सारण ज़िले का है, मैंने बस एक सपना देखा था, उसे पूरा आप सब कर रहे हैं, यहाँ के सारणवासी कर रहे हैं, सभी का भरपूर प्यार मिल रहा है और सबने इसे सराहा भी है, जिससे जो बन पड़ रहा है वो आगे बढ़कर मदद कर रहा है , उम्मीद है कि ये आयोजन ज़रूर सफल होगा”.

इस समारोह में कुल 8 देशों से फिल्में आयीं हैं जिनमें से कुल 40 फिल्मों का प्रदर्शन यहाँ किया जाएगा. कुछ विशेष फिल्मों की स्पेशल स्क्रीनिंग भी की जाएगी. कुल 50 मेहमान हमारे सारण की धरती पर आने वाले हैं जिनमें 3 विदेश के हैं.

आयोजन का प्रमुख आकर्षण हैं मशहूर सिने कलाकार और सारण की शान आखिलेंद्र मिश्र. वो इस आयोजन में बतौर ब्रांड एम्बेसडर दो दिनों तक यहाँ मौजूद रहेंगे तथा युवाओं के सामने अपनी बातें भी रखेंगे.

फ़िल्म क्रिटिक और लेखक मनोज भावुक, फ़िल्मकार धीरज मिश्र, फ़िल्म स्कॉलर अमृत गांगर जो कि इस आयोजन में ज्यूरी के रूप में हैं ये सभी अतिथि आयोजन के दौरान उपस्थित रहेंगे.

स्पेशल स्क्रीनिंग की फिल्मों को लेकर हिमाचल प्रदेश से डॉ देव कन्या ठाकुर – पुष्प राज ठाकुर, श्रीनगर से गुल रियाज़, मुम्बई से कमलेश मिश्र जी, छपरा और मुम्बई के संदीप कुमार व छपरा व दिल्ली के जैनेंद्र दोस्त आदि की उपस्थिति भी यादगार होगी.

आयोजन में अधिक से अधिक लोगों और युवाओं को जोड़ने और आकर आयोजन देखने के लिए समारोह की टीम ने आज से कॉलेजों, संस्थानों में जाना शुरू कर दिया है ताकि युवा इसमें अपनी भागीदारी दे सकें.

वैसे तो सभी फिल्में अपने आप में खास हैं कुछ फिल्मों के नाम हैं जो आप आयोजन के दौरान अवश्य देखें जैसे : इस्राइल की फ़िल्म ‘छिद्र’, ऑस्ट्रेलिया से फ़िल्म ‘बघीरा’, बांग्लादेश की फ़िल्म ‘एजुकेशन ऑन बोट’, ओडिशा की फ़िल्म ‘कुकली’, महाराष्ट्र की फ़िल्म ‘तरंग’, छतीसगढ की फ़िल्म ‘बघवा’, झारखंड की फ़िल्म ‘झरिया’, गुजरात से फ़िल्म ‘खिड़कियाँ’, दिल्ली से फ़िल्म ‘नो एग्जिट ‘, आदि.

आज से शुरू हुई कैंपेनिंग एक्टिविटी अभी लगातार आयोजन तक चलेगी, ताकि सभी सारणवासी इससे जुड़ सकें. आज के कार्यक्रम के दौरान फेस्टिवल डायरेक्टर अभिषेक अरुण के अलावा, मोटिवेटर राकेश शांडिल्य तथा सोशलिस्ट भँवर किशोर शामिल थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें