Lockdown: सारण जिला प्रशासन ने इंजीनियरिंग कॉलेज में शुरू किया आपदा राहत केंद्र

Lockdown: सारण जिला प्रशासन ने इंजीनियरिंग कॉलेज में शुरू किया आपदा राहत केंद्र

Chhapra: Lockdown के दौरान कई लोग जहाँ तहा फंसे है. ऐसे लोगों की सहायता के लिए सारण के जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के निदेश पर 26 मार्च 2020 की संध्या 5 बजे से इंजीनियरिंग कालेज परिसर में आपदा राहत केंद्र शुरू की जा रही है. जो 24 घंटे कार्यरत रहेगी.

लॉकडाउन के कारण जिले के अंदर जो मजदूर, रिक्शाचालक, ठेला वेंडर एवं अन्य गरीब जो लोग भी फंसे हुए हैं, उनके लिए भोजन और आवासन की व्यवस्था रहेगी. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए आपदा राहत केंद्र पर संबंधित स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध रहेंगी.

जिलाधिकारी ने कहा कि इस केंद्र में वैसे लोगों को सुविधा दी जाएगी जो किसी कारण से यहां फंस गए है. उन्हें इस केंद्र पर 24 घंटे सुविधा दी जाएगी. जिलाधिकारी ने बताया इस केंद्र का अपर समाहर्ता विभागीय जांच और डीआरडीए निदेशक को प्रभारी बनाया गया है.

एक ही जगह होगी रहने और खाने की सुविधा:

डीएम ने कहा आपदा राहत केंद्र में ऐसे गरीब लोगों की भोजन और आवास की व्यवस्था की जाएगी. साथ ही वहां उनके स्वास्थ्य जांच की भी सुविधा होगी.

इसके साथ ही वैसे लोग जो जिले के बाहर फंसे हुए हैं या रास्ते में है उन्हें स्थानीय प्रशासन से समन्वय कर वहीं पर भोजन एवं आवास की व्यवस्था सरकार के खर्चे पर भी की जा रही है.

बिहार सरकार द्वारा फंसे लोगों के लिए भोजन और रहने के साथ ही आपदा राहत केंद्रों पर कोरोना वायरस में संक्रमण की रोकथाम के लिए संबंधित सेवाएं भी उपलब्ध रहेंगी.

इन नम्बरों पर करें कॉल:
अपर समाहर्ता ( विभागीय जांच) :9955185596
निदेशक डीआरडीए: 9199371901

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें