चिरांद में गंगा, सरयू और सोन के संगम से अयोध्या भेजा गया पवित्र जल और मिट्टी

चिरांद में गंगा, सरयू और सोन के संगम से अयोध्या भेजा गया पवित्र जल और मिट्टी

चिरांद में गंगा, सरयू और सोन के संगम से अयोध्या भेजा गया पवित्र जल और मिट्टी

डोरीगंज : अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर नव निर्माण तथा 22 जनवरी को होने वाले प्राण-प्रतिष्ठा को ले चिरांद स्थित गंगा-सरयू और सोन के संगम का पवित्र जल और मिट्टी अयोध्या भेजी गई।

बिहार के सारण जिले में चिरांद के निकट गंगा, सरयू और सोन नदी के संगम से चिरांद विकास परिषद एवं गंगा समग्र के तत्वावधान में पवित्र जल और मिट्टीअयोध्या भेजी गई। इस पुनीत अवसर पर महंत श्रीकृष्णा गिरी उपाख्या नागा बाबा के संरक्षण में पूजन व संक्षिप्त समारोह का आयोजन किया गया।

श्रीराम से चिरांद के संगम का गहरा नाता

मौके पर नागा बाबा ने कहा कि अयोध्या से चलकर प्रभु श्रीराम और लक्ष्मणजी अपने गुरू विश्वामित्र के साथ बिहार के सारण जिले में स्थित गंगा, सरयू और सोन नदी के संगम पर पहुंचे थे। इस स्थान का नाम धर्मनगरी चिरांद है। इस समारोह के लिए भेजे अपने वीडियो संदेश में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि महर्षि विश्वामित्र ने इसी स्थान पर श्रीराम और लक्ष्मण को बला और अतिबला विद्या प्रदान करने के बाद उन्हें लेकर सिद्धाश्रम की ओर प्रस्थान किया था।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने दिया वीडियो संदेश

विश्व के दुर्लभ पुरातात्विक स्थलों में से एक, इस स्थान पर नवपाषाण कालीन ऐसे धरोहर मिले हैं जो रामायण कथा को पुरातात्विक प्रमाण से परिपुष्ट करते हैं। यह स्थान ऋषि श्रृंगी की तपस्थली थी जिन्होंने राजा दशरथ का पुत्रेष्टि यज्ञ सम्पन्न कराया था। इस स्थान की गरिमा को फिर से स्थापित करने के लिए वर्ष 2009 में ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन से चिरांद चेतना महोत्सव और गंगा गरिमा रक्षा संकल्प समारोह का आयोजन कर अभियान की शुरूआत की गयी थी। चिरांद विेकास परिषद के उस प्रथम आयोजन का उद्घाटन करने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ था।

अयोध्या के संतों एवं श्रीराम मंदिर निर्माण न्यास के आग्रह पर चिरांद विकास परिषद व गंगा समग्र के तत्वावधान में गंगा, सरयू और सोन इन तीन नदियों के संगम का जल कलश पूजन समारोह के बाद केंद्रीय मंत्री श्री चौबे को सौंपा गया जिसे लेकर वे पटना से बक्सर होते हुए अयोध्या के लिए रवाना हुए। चिराद विकास परिषद, गंगा समग्र के लोगों ने लिया भाग लिया।

उक्त अवसर पर चिरांद विकास परिषद के सचिव व गंगासमग्र के उत्तर बिहार के सह संयोजक श्रीराम तिवारी ने कहा कि भगवान श्रीराम के दिव्य जीवन को प्रेरणापूुंज बनाकर समाज को संकटमुक्त रखना है तो चिरांद, बक्सर व सीता जन्मस्थान को भी भव्य और विराट बनाना होगा। इस अवसर पर जिला संयोजक डाॅ कुमारी किरणसिंह, सह संयोजक राशेश्वरसिंह , रघुनाथ सिंह, राज किशोर सिंह, श्याम बहादुर सिंह, जयदिनेश पाण्डेय, उदय चौधरी, श्रीकांत पांडेय,तारकेश्वर सिंह,डाॅ शम्भू नाथ तिवारी,कुमार आनंद,, सुमन साह, बिट्टू तिवारी, जयराम राय, मोहन पासवान, शंकर पासवान, शत्रुघ्न माझी, मनीष कुमार, सुखल साह सहित कई गणमान्य लोग शामिल हुए।

0Shares
Prev 1 of 226 Next
Prev 1 of 226 Next

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें