DM के जनता दरबार में 158 मामलों पर हुई सुनवाई

DM के जनता दरबार में 158 मामलों पर हुई सुनवाई

छपरा: साप्ताहिक जनता दरबार में जिलाधिकारी दीपक आनंद ने दर्जनों जनशिकायतों का निष्पादन किया तथा कई मामलों में संबंधित पदाधिकारियों को दूरभाष पर त्वरित कार्रवाई का निर्देश भी दिया.

जनता दरबार में रामेश्वर पाण्डेय, वेदुपुर, एकमा ने एक आवेदन देकर गुहार लगाया कि डीलर धर्मनाथ प्रसाद राय द्वारा राशन कार्ड रख लेने तथा राशन, किरासन बंद करने के बाद कार्ड मांगने पर मारपीट, गाली-गलौज पर उतारू हो जाने का आरोप लगाया जिसपर डीएम श्री आनंद ने एसडीओ को निर्देश दिया कि मामलें की जांचकर अग्रेतर कार्रवाई करें. सकीला बेगम, मालूपुर, छपरा ने जनता दरबार में सेवा निवृत पति मो0 मुस्लिम अंसारी, अमनौर प्रखंड के सेवांत लाभ का भुगतान का आवेदन दिया उन्होने बताया कि मो0 अंसारी अब बिमारी के कारण बोल नही सकते है जिसपर डीएम ने डीडीसी, सारण को निदेश दिया कि मामलें की अग्रेतर कार्रवाई करते हुए अविलम्ब निष्पादित करे.

भागवत राम, योगिया एकमा ने जनता दरबार में इंदिरा आवास सहायक पर आरोप लगाते हुए कहा कि इंदिरा आवास योजना की प्रथम किस्म की राशि के रूप में 20,000 रूपया मिलने के बाद 5,000 रूपया अवैध राशि मांगा जा रहा है. डीएम ने डीडीसी को जांच पर कानूनी कार्रवाई करने का निदेश दिया. मो0 अशरफ अली, करीमचक छपरा ने जनता दरबार में गुहार लगाया कि कृषि उत्पाद बाजार समिति में आवंटित दुकान सं0 ए12 में कारोबार करने से ए11 के मालिक द्वारा बाधा पहुँचाया जा रहा है. जिसपर निष्पादन के लिए एसडीपीओ, सदर को निदेशित किया गया एवं अविलम्ब कार्रवाई करने को आदेश डीएम द्वारा दिया गया.
जनता दरबार में अधिकतर मामले भूमि विवाद एवं जनवितरण प्रणाली से संबंधित थे. इस पर डीएम दीपक आनंद ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि जनशिकायतों के निष्पादन के मामले को अधिकारी हल्के में न लें. उन्होने एक माह से अधिक सभी लंबित जन शिकायतों के निष्पादन के लिए 31 जनवरी की तिथि निर्धारित करते हुए कहा कि यदि 31 जनवरी तक मामले का निष्पादन नहीं हुआ तो संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी और समाहरणालय में कैंप लगाकर मामले का निष्पादन सुनिश्चित कराया जाएगा.

डीएम ने जनता दरबार के पश्चात् सभी जिला स्तरीय पदाधिकारियों को निदेश दिया कि वित्तीय वर्ष अब समाप्ति ओर है. उन्होने कहा कि सभी कार्यालय प्रधान प्राप्त आवंटन एवं व्यय का प्रतिवेदन अविलंब समर्पित करें ताकि स्थिति की समीक्षा की जा सके.

उन्होने निर्देश दिया कि सभी पदाधिकारी स्वयं भी समय पर कार्यालय पहुंचे और यह सुनिश्चित करें की अधीनस्थ कर्मी भी समय पर पहुंचे और कार्यालय अवधि में उपस्थित रहे. उन्होने नजारत उप समाहर्ता को निर्देश दिया कि वे सभी मुख्य कार्यालयों में सीसीटीवी कैमरा लगाए जिसका मोनिटर डीएम के कार्यालय कक्ष में होगा ताकि अन्य कार्यालयों की गतिविधयों पर नजर रखी जा सके.

डीएम के जनता दरबार में सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें