छपरा में कोरोना पर भारी पड़ी आस्था, मंदिर बंद रहा तो लोगों ने गेट पर ही चढ़ाया फूल व प्रसाद

छपरा में कोरोना पर भारी पड़ी आस्था, मंदिर बंद रहा तो लोगों ने गेट पर ही चढ़ाया फूल व प्रसाद

Chhapra: सावन में कोरोनावायरस पर लोगों की आस्था भारी पड़ती नजर आ रही है. 6 जुलाई को सावन की पहली सोमवारी के दिन छपरा के सभी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद रहे. इस दौरान छपरा के धर्मनाथ मंदिर परिसर में अलग ही नजारा को देखने को मिला. जिला प्रशासन के निर्देश पर मंदिर का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया था . इस दौरान जब श्रद्धालु मंदिर के गेट पर पहुंचे तो गेट बंद पाया फिर श्रद्धालुओं ने मंदिर के गेट पर ही पूजा-पाठ की और फूल माला चढ़ाकर शिव की आराधना की.

Sha

इस दौरान काफी लोगों ने मंदिर के गेट पर ही जल चढ़ा दिया और फूल माला चढ़ाकर शिवलिंग का दूर से ही दर्शन किया. लोगों को गेट पर पूजा अर्चना करते देख मंदिर प्रशासन की ओर से उन्हें वापस जाने का निर्देश दिया गया. हालांकि इसके बावजूद कई श्रद्धालुओं ने गेट पर पूजा-पाठ करके वापस चले गए.

इससे पहले रविवार को जिले के कई प्रसिद्ध मंदिरों को जिला प्रशासन की ओर से सील कर दिया गया था. ताकि कोई भी श्रद्धालु अंदर ना जाने पाए. धर्मनाथ मंदिर में भी एहतियातन सभी प्रवेश द्वारों को बंद कर दिया गया था. उसके बाद श्रद्धालु गेट पर ही पूजा करके वापस चले गए.

आपको बता दें कि सावन में सभी मंदिरों को श्रद्धालुओं के लिए बंद रखने का निर्देश दिया गया है. जिला प्रशासन ने अगस्त के पहले हफ्ते तक सभी शिव मंदिरों को बंद रखने का निर्देश दिया है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें