हमारा उद्देश्य स्वास्थ्य सुविधाओं में बेहतरी लाना है: आयुक्त

हमारा उद्देश्य स्वास्थ्य सुविधाओं में बेहतरी लाना है: आयुक्त

छपरा: आयुक्त, सारण प्रमंडल श्री प्रभात शंकर ने स्वास्थ्य विभागीय प्रमंडलीय समीक्षा में निर्देश दिया है कि जननी बाल सुरक्षा योजना के अन्तर्गत किसी भी प्रकार का वैकलाॅग अविलम्ब समाप्त किया जाए. उन्होंने समीक्षा के क्रम में पाया कि सीवान में इस योजना का भुगतान अद्यतन है जबकि गोपालगंज में और छपरा में भुगतान लंबित है. बताया गया कि राज्य स्वास्थ्य समिति से आवंटन प्राप्त हो गया है और वैकलाॅग समाप्त करने की कार्रवाई चल रही है. आयुक्त ने कहा कि हर हाल में वैकलाॅग 15 दिनों के अंदर समाप्त किया जाए.

आयुक्त ने शनिवारको सदर अस्पताल में प्रमंडलीय स्तरीय क्षेत्रीय गुणवता आश्वासन समिति सारण के त्रैमासिक विभागीय समन्वय समिति की बैठक में उक्त निर्देश दिया. बैठक में क्षेत्रीय अपर निदेशक स्वास्थ्य डा0 बी0के0 उपाध्याय, क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक श्रीमती अनीशा, तीनों जिले के जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला टीकाकरण पदाधिकारी, सारण, डा0 रवि शंकर सिंह, उपधीक्षक सदर अस्पताल, केयर इंडिया के प्रोेग्राम आॅफीसर समेत सभी आमंत्रित सदस्य उपस्थित थे.

प्रमंडलीय आयुक्त को पावर प्वाइंट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से पूरे प्रमंडल के स्वास्थ्य महकमे में किए जा रहे कार्यो की तस्वीर पेश की गयी. पी0एन0डी0टी0 एक्ट, कालाजार, न्यू वार्न स्टेव लाइजेशन यूनिट, परिवार नियोजन, न्यू वार्न वीक चिल्ड्रेन ट्रैंकिंग यूनिट समेत सभी स्वास्थ्य सुविधाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त करने के उपरांत आयुक्त ने कहा कि हमारा उद्देश्य स्वास्थ्य सुविधाओं में बेहतरी लाना है और इसके लिए हम सभी का संयुक्त प्रयास आवश्यक है. उन्होंने कहा कि अस्पतालों में जो संसाधन है उसकी अधिकतम सुविधा मरीजों को मिलनी चाहिए तभी सरकार का उद्देश्य पूरा होगा.

आयुक्त ने कहा कि कृमि मुक्त अभियान का सघन अनुश्रवण किया जाना आवश्यक है ताकि कोई टारगेट गु्रप का बच्चा इस दवा से वंचित न रह सके. उन्होंने कहा कि कहीं-कहीं स्कूलों में शिक्षकों को ओरियेन्टेशन किए जाने की भी आवश्यकता है ताकि 15 फरवरी को अभियान पूर्ण रूप से सफल हो सके.

आयुक्त ने ब्लड बैंक एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट की भी समीक्षा की. बताया गया कि हथुआ में ब्लड स्टोरेज यूनिट को 15 मार्च तक चालू कर दिया जाएगा. आयुक्त ने कहा कि 15 मार्च के बाद वे क्षेत्र भ्रमण के क्रम में ब्लड स्टोरेज यूनिट हथुआ का औचक निरीक्षण करेंगे.

आयुक्त ने तीनों जिले में बन रहे ड्रग एडिक्शन सेन्टर के प्रगति की समीक्षा की और निर्देश दिया कि निर्धारित समय के अंदर समस्त तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाएं.

इसके पूर्व आयुक्त ने सारण, सीवान एवं गोपालगंज के अधिकतम सिजेरियन करने वाले डा0 नीला सिंह, डा0 मिथिलेश कुमार एवं डा0 मंजू कुमारी को सिल्ड एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया. उक्त जानकारी जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी बी के शुक्ला ने दी.

 

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें