बिहार सरकार का बड़ा फैसला, विधायक और विधान परिषद सदस्यों के फंड से दो-दो करोड़ की कटौती

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, विधायक और विधान परिषद सदस्यों के फंड से दो-दो करोड़ की कटौती

Patna: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार देर शाम दोनों डिप्टी सीएम सहित प्रधान सचिव के साथ बैठक के बाद विधायकों और विधान परिषद सदस्यों के फंड में से दो-दो करोड़ रुपये की कटौती करने का फैसला किया. सरकार ने इस तरीके से 600 करोड़ रुपये से ज्यादा जुटा लिया है.

बिहार सरकार के योजना एवं विकास विभाग ने इस बाबत पत्र निकाला है. विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने जारी किये गये पत्र में कहा गया है कि कोरोना महामारी की बिहार में रोकथाम औऱ इससे संक्रमित लोगों के इलाज के बंदोबस्त के लिए सरकार ने फैसला किया है कि विधायक-विधानपार्षद सदस्यों के फंड से पैसे लिये जायें. अब उनके फंड से दो-दो करोड़ रुपये की राशि ली जायेगी, जिसे स्वास्थ्य विभाग के कोरोना उन्मूलन कोष में जमा किया जायेगा.

बिहार में अभी विधायकों की संख्या 242 है. वहीं, विधान पार्षदों की संख्या भी 70 के करीब है. दोनों की संख्या जोड़ कर 312 होती है. ऐसे में सरकार के कोरोना उन्मूलन कोष में 624 करोड़ रुपये जमा हो जायेंगे.

हालांकि, कई विधायक औऱ विधान पार्षदों ने पहले ही कोरोना से निपटने के लिए अपने फंड से पैसे देने का एलान कर रखा है. इनमें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव भी शामिल है. वैसे मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना से दो-दो करोड़ रुपये लेने के लिए आज जारी पत्र में कहा गया है कि इस दो करोड़ के अलावा भी कोई विधायक या विधान पार्षद पैसा देना चाहते हैं तो सरकार उसका स्वागत करेगी.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें