डिजिटल मीडिया के कंटेंट के प्रति सजग और गंभीर रहने वाले ही रेस में बने रहेंगे: आनंद कौशल

डिजिटल मीडिया के कंटेंट के प्रति सजग और गंभीर रहने वाले ही रेस में बने रहेंगे: आनंद कौशल

Chhapra: इंटरनेट ने डिजिटल मीडिया को बढ़ावा दिया है. आने वाला दौर डिजिटल मीडिया का है. इस क्षेत्र में बड़े व्यापारिक घरानों के बढ़ते दखल इसे प्रतिस्पर्धी बनाते हैं. ऐसे में कंटेंट के प्रति सजग और गंभीर रहने वाले ही रेस में बने रहेंगे.  उक्त बातें बिहार ब्रेकिंग न्यूज़ वेब पोर्टल के प्रधान संपादक आनंद कौशल ने स्थानीय मजहरुल हक एकता भवन में न्यूज़ फैक्ट द्वारा आयोजित डिजिटल मीडिया उपयोगिता और आचार नीति पर विमर्श विषय पर बोलते हुए कही.

श्री कौशल ने वेब परटल्स के नियमन पर भी विस्तार से प्रकाश डाला. पत्रकारों की न्यूनतम अहर्ता बतायी और कार्यक्षेत्र में में कंटेंट के प्रति गंभीरता बरते जाने पर बल दिया.

वही राष्ट्रीय सहारा के बिहार संपादक ओम प्रकाश अक्स ने कहा कि डिजिटल मीडिया नई है इसलिए इसमें कुछ खूबियाँ हैं तो कुछ खामियाँ भी है. आज पाठकों की अपेक्षाएँ बढ़ी है. ऐसे में हमारे समक्ष उनकी अपेक्षाओं पर खड़े उतरना चुनौतीपूर्ण है. उन्होंने गणेश शंकर विद्यार्थी का हवाला देते हुए अगाह किया कि आज डिजिटल मीडिया के बढ़ते व्यापक प्रभाव को देखते हुए यह जरूरी है कि प्रमाण रहते हुए भी प्रभाव और परिणाम का आकलन करने के बाद ही किसी खबर को प्रकाशित और प्रसारित करें. यह हमारी जिम्मेवारी है.

जबकि रजनीकांत पाठक ने डिजिटल इंडिया के माध्यम से रोजगार की अपार संभावनाएँ विकसित करने की बात कही. उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर एक फोरम का निर्माण करते हुए स्व आचारनीति का निर्धारण कर खबरों को प्रसारित करने की सलाह दी. श्री पाठक ने डिजिटल मीडिया के द्वारा मनोरंजन, खेलकूद व अन्य चीजों को भी बढ़ावा देने पर बल दिया. उन्होंने कहा कि बिना बवाल किये भी तहलका मचाया जा सकता हैं बशर्ते कि खबरें तथ्यपरक और वास्तविक हो.

छपरा टुडे के प्रधान संपादक सुरभित दत्त सिन्हा ने अपने संबोधन में कहा कि डिजिटल मीडिया एक ऐसा माध्यम है जिस पर खबरे बड़ी तेजी से प्रसारित होती हैं. ऐसे में यह जरूरी है कि खबरों की विश्वसनियता बनायी रखी जाय, उन्होंने आगे कहा कि ऐसा देखने मे आता है कि खबरों में गिरावट आयी है. हमे उससे बचने होगा. इसके लिए शब्दों के चयन में सावधानी और खबरों की प्रामाणिकता की पड़ताल आदि को प्रमुखता देनी होगी. उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया भ्रामकता फैलाता है, यह आंशिक सत्य है.

कार्यक्रम को प्रो डॉ लालबाबू यादव, पत्रकार पंकज कुमार आदि ने संबोधित किया. अध्यक्षता बिहार विधान परिषद के पूर्व उप सभापति सलीम परवेज ने की जबकि मंच संचालन अमित रंजन ने किया.

इस अवसर पर बच्चों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये गये. इसके पूर्व समारोह का विधिवत उद्घाटन विधान पार्षद डॉ वीरेंद्र नारायण यादव, मुंद्रिका प्रसाद यादव, जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरुण सलीम परवेज आदि ने संयुक्त रूप से किया.

[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.