रूडी की चुनौती पर पप्पू यादव ने खड़े कर दिए 40 ड्राइवर, कहा-ले जाएं

रूडी की चुनौती पर पप्पू यादव ने खड़े कर दिए 40 ड्राइवर, कहा-ले जाएं

Patna: कोरोना काल मे शुक्रवार को जाप प्रमुख द्वारा सिवान दौरे के दौरान अमनौर में खड़ी एम्बुलेंस प्रकरण में घमासान मचा है. सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी और जाप प्रमुख पप्पू यादव की बीच बयानबाजी शुरू हो गयी.

शुक्रवार को इस मामले पर जाप प्रमुख पप्पू यादव ने प्रैसवार्ता की. जाप प्रमुख ने सांसद रूडी के बयान पर करीब 40 लाइसेंस वाले वाहन चालकों की कतार लगा दी और सांसद रूडी को सीधे तौर पर कहा कि ले जाये चालक और दे कोरोना रोगी को निशुल्क सुविधा.

जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने आज 40 लाइसेंस धारी ड्राइवर खड़े कर दिए और कहा कि बिहार सरकार जहां भी एम्बुलेंस को ड्राइवर की जरूरत हो, वे लें जाए. इसके लिए उन्होंने जाप के राष्ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह का नम्बर 9334123702 जारी किया और कहा कि सरकार इन ड्राइवर को सरकारी नौकरी भी दे. साथ ही उन्होंने महामारी एक्ट के तहत भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी पर मुकदमा दर्ज करने की भी मांग की. उन्होंने मुख्यमंत्री से कौशल विकास के नाम पर हुए घोटाले की जांच की भी मांग कर दी.

पप्पू यादव ने ये बातें अपने पटना आवास पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कही. इस दौरान उन्होंने राजीव प्रताप रूडी और उनके समर्थकों पर अप्रत्यक्ष रूप से धमकी देने का आरोप लगाया और कहा कि अगर जरूरत होगी तो हम ऑडियो भी पब्लिक करेंगे. साथ ही पप्पू यादव ने ये भी कहा कि अगर हमें मार देने से बिहार की जनता को एम्बुलेंस और दवाई, ऑक्सीजन आदि मिल जाये तो हम इसके लिए तैयार हैं. रूडी जी से मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है, लेकिन उन्होंने जिस तरह से मुझे धमकी दी और राजनीति का आरोप लगाया. तो बस यही कहूंगा कि राजनीति कौन नहीं करता है. नरेंद्र मोदी, अटल बिहारी वाजपेयी, जार्ज फर्नांडिस जैसे दिग्गज लोग भी तो राजनीति करते रहे हैं.

उन्होंने कहा कि रूडी जी, आपने तत्कालीन मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ NH के पास परिवहन क्षेत्र में संभावित रोजगार सृजन के लिए कुशल चालकों के प्रशिक्षण केंद्र शुरू किया था. फिर यह बंद क्यों हुआ? आपको भ्रष्टाचार के आरोप में मंत्री पद से हटाया गया. भाजपा को तो आपकी करतूत मालूम है. आप ही बताइए सरकारी पैसे का एम्बुलेंस निजी घर में क्या कर रहा है? रूडी जी, आप हमारे भाई हैं. धमकी न दीजिये. सारण की जनता ने जो जिम्मेदारी दी है, वो निभा लीजिये. जनता के भरोसे पर आप चुनकर गए हैं, अगर आप अपनी जिम्मेदारी लें, लें तो हम खुद घर बैठ जायेंगे. लेकिन अगर आप भूलेंगे, तो हम आपको जगायेंगे. रही बात खत्म होने की तो जो आदमी दिन रात एक कर लाशों की बीच जिंदगी गुजार रहा है. उसे मत डराइये. मैंने जनता के सवाल को उठाया और आप व आपके लोग मेरा अंतिम करने में लग गए. जिसके घर शीशे के हों वो पत्थर नहीं फेंकते. आप कहते हैं ड्राइवर नहीं है. आपके यहाँ से ही कल से आज तक कई लोगों ने ड्राइवर देने की बात कही है. थोड़ा शर्म करिये.

वहीं, पप्पू यादव ने सिवान कोविड सेंटर के बहाने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से भी आग्रह किया कि कम से कम वे अपने गृह जिले में ICU, वेंटिलेटर आदि की व्यवस्था कर लेते. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री जी हमारे मित्र हैं. मैं उनसे आग्रह करूँगा की कि वे सिवान में तो लोगों को असप्तालों में सुविधा मुहैया कराए. वहां ICU नहीं है.वेंटीलेटर नहीं है. ऑक्सीजन नहीं है. रेमडीसीवीर सिर्फ 40 मिला है, जबकि लोग 100 भर्ती हैं. आपके इस्तीफे के लिए ट्विटर पर लाखों ट्वीट हो चुके हैं, लेकिन वक्त काम करने का है. आपको जो जिम्मेदारी बिहार की जनता ने दी है, उसे निभाइए.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें