Feb 25, 2018 - Sun
Chhapra, India
24°C
Wind 3 m/s, W
Humidity 83%
Pressure 758.31 mmHg

25 Feb 2018      

Home विविध

छपरा: शहर के राजेंद्र सरोवर स्थित वैधराज संजय सिन्हा ने जिलाधिकारी को आवेदन देते हुए कहा है कि शराब से सौ गुना हानिकारक गोलगप्पे का पानी में पाए जाने वाले केमिकल है. आवेदन में उन्होंने कहा है कि एक साधारण सा खाद्य पदार्थ व्यंजन जो शौक से लोग खाते हैं. खासकर लड़के-लड़कियों में ज्यादा ही पसंद है और गहराई से परखा जाए तो रोचक तथ्य सामने आएंगे.

जब कोई दुर्घटना हो जाती है तब प्रशासन उस तरफ ध्यान देता है उन्होंने कहा है कि बिहार के सभी क्षेत्रों में गली-गली गोलगप्पा व्यंजन शादी पार्टी में जो परोसा जा रहा है. उस पर बारीकी से ध्यान देने की जरूरत है.

कैसे हानिकारक है गोलगप्पे का पानी
15-16 लीटर जो पानी गोलगप्पे के लिए तैयार किया जाता है. मात्र इमली 12 पीस डाला जाता है. भारी मात्रा में केमिकल डाला जाता है. जिससे अनेक बीमारी फैलता है. दीमक की तरह मानव पर बुरा प्रभाव पड़ता है. जिससे होने वाले बीमारी बालों का झड़ना, किडनी, लीवर, फेफड़ा, एलर्जी, चर्म रोग, दम्मा रोगों पर उक्त शरीर पर शुक्राणु डैमेज से नपुंसकता रोगों को बढ़ावा देता है. पुरुषों के लिए भयंकर बीमारी फैलाता है.

उन्होंने लिखित आवेदन में बहुत सारी बातों को बताया है. और कहा है कि समय रहते उचित कार्रवाई नहीं हुई तो गंभीर रोगों का खुला निमंत्रण पत्र है, महज एक गोलगप्पा.

(Visited 485 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!