Feb 21, 2018 - Wed
Chhapra, India
24°C
Wind 2 m/s, W
Humidity 57%
Pressure 756.06 mmHg

21 Feb 2018      

Home संपादकीय

अपराधी का इंटरव्यू इस शीर्षक से आप भी सोचेंगे कि अपराधी का इंटरव्यू छापने, बताने की क्या जरूरत पड़ी. सिस्टम, समाज और मजबूरी इंसान को अपराध और अपराध के रास्ते पर कब ला खड़ा करती है पता नही चलता.

पढ़िए कबीर अहमद से सुपारी किलर की बातचीत के अंश….

भूख, गरीबी, बेरोजगारी और लाचारी इन्सान को ज़िन्दगी किस मोड़ पर ला खड़ा करेगा वो इन्सान को भी मालूम नही पड़ता. महज 20 साल की उम्र में अपराध की दुनिया में कदम रख देश के विभिन्न राज्यों में अपने खौफ का लोहा मनवाने वाला 28 की उम्र में ज़िन्दगी के उस मोड़ पर पहुँच गया जहाँ अपनों के साथ जन्म देने वाली माँ से भी नज़रे मिलाने की हिम्मत नही रही.

10 फ़रवरी को पुलिस की कस्टडी में आये मोस्ट वांटेड कुख्यात राजू पटेल उर्फ़ राजू सिंह ने बताया कि कोई अपनी ज़िन्दगी पुलिस की खौफ और जंगल-झाड़ियों में क्यों गुजारना चाहेगा. कौन नही चाहता ज़िन्दगी अपने माँ-बाप और परिवार के साथ बीते. घर की गरीबी और समाज में दबंगों के दबदबे ने मुझे अपराध की दुनिया आने को मजबूर कर किया. जब इस दुनिया में मैंने कदम रखा तो पीछे मुड़कर नही देखा. यहाँ से निकलने की कोशिश की लेकिन देर हो चुकी थी और मैं 20 लोगों की हत्या कर चूका था.

उत्तर प्रदेश बलिया जिले के दुबहर थाना क्षेत्र के कछुरामपुर गाँव का रहने वाला राजू पटेल ने आपबीती सुनाते हुए कहा कि मैंने गरीबों को नही सताया है. एक बार सुपारी लेकर मर्डर करने गया था लेकिन उसकी गरीबी देख अपने परिवार की याद आई और मै बैरंग वापस लौट आया. मेरी लड़ाई सरकार और सामंतवाद से है. अन्तः उसने बताया कि मै इस अपराध की दुनिया को छोड़ समाज की मूल धारा से जुड़कर जीना चाहता हूँ.

राजू पटेल की बातें किसी फिल्म की स्क्रिप्ट की जैसी लगती है. उसकी बातों में कितनी सच्चाई है यह तो वह ही जाने पर अपराध की दुनिया का यह सुपारी किलर आज अपने कर्मों की सजा काट रहा है. पश्चाताप करने के आलावे उसके पास कोई चारा नही है.

बताते चलें कि सारण पुलिस द्वारा 9 फ़रवरी को बनियापुर थाना क्षेत्र के पिरौटा स्थित बजरंग बली के मंदिर के पास से इस कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार किया गया. पुलिस कप्तान हर किशोर राय ने बताया कि देश के कई राज्यों में दर्जनों लूट-हत्या के कई मामले दर्ज है.

नोट: इस इंटरव्यू के माध्यम से अपराधी को महिमा मंडित करना हमारा उद्देश्य नही.

(Visited 572 times, 2 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!