सारण में ITBP के बाद SSB कैम्प के लिए अधिग्रहित भूमि पर घेराबंदी शुरू

सारण में ITBP के बाद SSB कैम्प के लिए अधिग्रहित भूमि पर घेराबंदी शुरू

नयागांव: सोनपुर प्रखंड स्थित डुमरी बुजुर्ग में गुरुवार को एसएसबी कैंप के लिए जमीन की घेराबंदी का कार्य प्रारंभ हो गया. भूमि अधिग्रहण में किसानों के जमीन के मुआवजा का भुगतान कराने के लिए अधिग्रहित भूमि पर कैंप का आयोजन किया गया था. इस कैंप में जिला भू अर्जन पदाधिकारी रजनीश कुमार, सोनपुर के एडिशनल एसपी अंजनी कुमार, ए एस डी एम अनीता सिन्हा, सीओ अनुज कुमार, डीसीएलआर के अलावे एसएसबी के कमांडेंट मनीष कुमार मौजूद थे.

इस दौरान शुरुआती दौर मे किसान अपनी मुआवजे को लेकर थोड़ा असंतुष्ट दिखाई दिए लेकिन एसएसबी कमांडेंट मनीष कुमार एवं अन्य पदाधिकारियों के आश्वासन के बाद किसान संतुष्ट हुए. वही कुछ किसानों का कहना है कि इससे पहले भुगतान के लिए जब भी अंचल कार्यालय पहुंचते हैं तो वहां के कर्मी सही ढंग से बात नहीं करते थे एवं पैसे की पेशकश की बात कही जाती थी.

कुछ किसानों का कहना था कि अधिग्रहित 45 एकड़ जमीन डुमरी बुजुर्ग के लोगों का है वहीं से सटे मलिकान गैरमजरूआ 65 बीघा टोपोलैंड जमीन है. अगर उस जमीन मैं यह कैंप बनाया जाता तो किसानों का यह कीमती जमीन बच जाता. पटना से गुरुवार को दर्जनों वाहनों से पहुंचे सैकड़ो एसएसबी के जवानों एवं अधिकारियों ने जमीन पर घेराबंदी शुरू कर दिया. देखते ही देखते उक्त स्थल छावनी में तब्दील हो गया. वहाँ अस्थाई रूप में मेस, सेड टावर आदि का निर्माण कर लिया गया.

इस संबंध में सीओ अनुज कुमार ने बताया कि 45 एकड़ जमीन किसानों का अधिग्रहित किया गया है. जिसमें पाँच किसानों का भुगतान कि प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है. जल्द ही बाकी बचे सभी किसानों का भुगतान करा दिया जाएगा.

वहीं कमांडेंट मनीष कुमार ने उपस्थित किसानों को भरोसा दिलाया कि किसी भी किसान का फसल बर्बाद नहीं होगा. गेंहू की कटाई हो जाने के बाद अधिग्रहित भूमि कैम्प का कार्य शुरू कराया जाएगा. यह बात सुनकर किसान काफी खुश हुए.

बताते चलें कि सारण जिले में एसएसबी हेडक्वार्टर स्थापित करने को हरी झंडी मिलते ही विभागीय निर्देश के आधार पर जिला प्रशासन ने एसएसबी मुख्यालय की स्थापना के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी. इसके लिए पहले चरण में यहां के 117 भूखंडों को अधिग्रहण के लिए चिह्नित किया गया है.

इन भूखंडों में से करीब 45.29 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया गया हैं. भू-अर्जन को प्रस्तावित इन भूखंडों में 60 बकास्त, 30 रैयती तथा 27 गैरमजरूआ जमीन शामिल है.

बिहार सरकार ने पिछले दिनों जमीन का सर्वे कराया गया था. पटना स्थित चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान की राज्य एसआइए इकाई ने भूमि सर्वे के दौरान सामाजिक प्रभाव मूल्यांकन एवं आंकलन के बाद अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. सर्वे टीम ने इसके लिए सोनपुर अंचल थाना नंबर 22 में डुमरी बुजुर्ग गांव के 117 भूखंडों को चयनित किया है. ततपश्चात जिला भू-अर्जन कार्यालय इन चिन्हित 45.29 एकड़ भूमि के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी. विभाग ने भूमि अधिग्रहण के लिए प्रस्तावित भूखंड के खाता नंबर, खेसरा नंबर व जरूरी रकवा के मुताबिक सभी संबंधित भू-स्वामियों के नाम नोटिस जारी किया था.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें