केंद्रीय कृषि कानूनों के प्रति किसानों को बरगला कर भ्रमित कर रहा है विपक्ष: भाजपा

केंद्रीय कृषि कानूनों के प्रति किसानों को बरगला कर भ्रमित कर रहा है विपक्ष: भाजपा

Chhapra: भारतीय जनता पार्टी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए किसानों को बरगलाने और भ्रमित करने का आरोप लगाया है. पार्टी के  नेताओं ने सोमवार को जिलाध्यक्ष रामदयाल शर्मा के नेतृत्व में प्रेस वार्ता कर कहा कि विपक्ष केंद्रीय कृषि कानूनों के प्रति किसानों को बरगला कर भ्रमित करने का काम कर रहा है, जबकि सरकार इस कानून में संशोधन करने को तैयार है.

उन्होंने कहा कि इसके बावजूद धरना जारी रखना किसी दूसरी मंशा की और इशारा करता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने 2019 के अपने घोषणा पत्र में  जिस APMC एक्ट को ख़त्म करने की बात खुद ही की थी आज उसी का विरोध कर रही है. जितनी भी पार्टियां अभी विरोध में  सभी ने इस एक्ट को निरस्त करने की पूर्व में बातें कही थी. यह कानून किसानों के हित में है इसको लेकर भ्रामक प्रचार कर किसानों को बहकाया जा रहा है. 

केंद्रीय कृषि कानून देश के किसानों के लिए वरदान: सिग्रीवाल

वही महाराजगंज के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने कहा कि केंद्रीय कृषि कानून देश के किसानों के लिए वरदान है. किसानों की आय को दोगुना करने में यह कानून मिल का पत्थर साबित होगा. इससे किसान खुशहाल होंगे. कुछ लोग देश के किसानों को बरगलाना चाहते है. ये यह लोग है जिन्होंने किसानों के लिए कभी कुछ नहीं किया. लेकिन जब अब मोदी सरकार किसानों की आय को दोगुनी करना चाह रही है तो अडंगा लगा रहें है. किसानों के खाते में 6 हज़ार रुपये हर साल सीधे जा रहें है. जिससे छोटे किसानों को लाभ हो रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राजद के लोग किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाना चाह रही है यह एक तय एजेंडा के तहत करने की कोशिश हो रही है. जिसे सरकार नाकाम करेगी.

 

उन्होंने कहा कि किसानों को चाहिए की वे प्रायोजित धरना की जगह सरकार से वार्ता कर कानून में संशोधन कराये. जिसके लिए सरकार तैयार भी है. जहाँ तक MSP का सवाल है सरकार उसके लिए भी लिखित देने को तैयार है. आज किसानों को पहले की अपेक्षा ज्यादा MSP मिल रही है. 

पूर्व विधायक विनय कुमार सिंह ने कहा कि जब कानून पास हो रहें थे तो सभी दलों ने चर्चा की थी. बावजूद इसके विरोध है जिसके बाद सरकार संशोधन के लिए तैयार भी है. इसके बाद भी जिस प्रकार कानून को ही निरस्त करने की मांग हो रही है वह कही से भी जायज नहीं है. 

छपरा के विधायक डॉ सीएन गुप्ता ने कहा कि कृषि कानून का विरोध लेफ्ट पार्टियों का एक प्रायोजित एजेंडा मात्र है. सरकार हर बिंदु पर किसानों के साथ है. 

प्रेस वार्ता में जिला प्रवक्ता विवेक सिंह, महामंत्री शांतनु सिंह किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष बबलू मिश्रा समेत भाजपा के नेता उपस्थित थे.      

           

 

      

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें