एयरो इंडिया 2021: 50 देशों की वायु सेनाओं ने बनाई एयरोस्पेस रणनीति

एयरो इंडिया 2021: 50 देशों की वायु सेनाओं ने बनाई एयरोस्पेस रणनीति

New Delhi: एयरो इंडिया-2021 की तमाम उपलब्धियों में से एक विभिन्न देशों के वायुसेना प्रमुखों का दो दिवसीय कॉन्क्लेव भी रहा, जिसके तीन सत्रों ने एयरोस्पेस रणनीति के संबंध में महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक मंच प्रदान किया। इन सत्रों में ‘विघटनकारी प्रौद्योगिकी और नवाचार’, ‘इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में एयर पावर’ और ‘एयर पावर एवं एयरोस्पेस रणनीति’ के विषयों पर चर्चा हुई। युद्ध को प्रभावित करने वाली उभरती हुई प्रौद्योगिकियों और ग्लोबल कॉमन्स की सुरक्षा और स्थिरता से संबंधित मुद्दों पर 50 देशों के वायुसेना प्रमुखों ने विचारों का आदान-प्रदान किया।

करीब 50 देश की वायु सेनाओं ने बनाई रणनीति
वायुसेना प्रमुखों ने क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक महत्वपूर्ण ऊर्जा के रूप में एयर पावर की भूमिका को दोहराया। कोविड-19 महामारी के कारण लगाए गए प्रतिबंधों के मद्देनजर कॉन्क्लेव को हाइब्रिड प्रारूप में आयोजित किया गया था जिसमें करीब 50 देशों ने भाग लिया। कॉन्क्लेव में अमेरिका, यूरोप, मध्य पूर्व, पश्चिम एशिया, मध्य एशियाई गणराज्यों, दक्षिण पूर्व एशिया, अफ्रीका, हिन्द महासागर क्षेत्र और इंडो प्रशांत से वायुसेना प्रमुख शामिल हुए। एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने सभी प्रमुखों, नामित प्रतिनिधियों को इस कॉन्क्लेव में भाग लेने और उनके बहुमूल्य योगदान के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कॉन्क्लेव में हुई चर्चा वायु सेनाओं के बीच समझ, सहयोग और बहुपक्षीय क्षमताओं को बढ़ाने में मदद करेगी।

तमाम देशों के प्रतिनिधियों ने वायुसेना प्रमुख से की मुलाकात
एयरो इंडिया-2021 के दौरान शुक्रवार को अमेरिकी वायुसेना के उप-अवर सचिव केली एल सेबोल्ट के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया से मुलाकात की। दोनों पक्षों ने वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के मुद्दे पर चर्चा के साथ सैन्य आदान-प्रदान और वायुसेना के स्तर के सहयोग में निरंतर प्रगति को स्वीकार किया। इसी तरह फ्रांसीसी रक्षा खरीद एजेंसी (डीजीए) के निदेशक जनरल थियरी कार्लाइल ने भी एयर चीफ मार्शल से मुलाक़ात करके भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग को गहरी रणनीतिक साझेदारी का एक महत्वपूर्ण स्तंभ बताया।

बांग्लादेश एयरफोर्स के एयर चीफ मार्शल मासिज्जुमान सर्नियाबात ने वायुसेना प्रमुख भदौरिया से मुलाक़ात में दो वायु सेनाओं के बीच आदान-प्रदान की विस्तृत श्रृंखला को भारत और बांग्लादेश की दोस्ती के मजबूत बंधन का प्रतिबिंब कहा। इसके बाद सर्नियाबात ने एलसीए तेजस की डेमो उड़ान भरी। एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने ताजिकिस्तान गणराज्य के वायुसेना और वायु रक्षा बलों के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सफारलिज़ोदा रहमोनाली से भी मुलाकात की। दोनों प्रमुखों ने मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को स्वीकार किया और चल रहे रक्षा कार्यों को बढ़ाने पर चर्चा की।

सूर्य किरण और सारंग टीमों ने संयुक्त रूप से दिखाए करतब
एयरो इंडिया के आखिरी दिन शुक्रवार को सूर्य किरण तथा सारंग टीमों ने संयुक्त रूप से आसमानी करतब दिखाए और फिर एयर चीफ मार्शल भदौरिया के साथ दोनों टीमों ने फोटो क्लिक करवाई। इस फोटो में सूर्य किरण टीम खाकी वर्दी में और सारंग ऑरेंज रंग की ड्रेस में दिखाई दी। एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने डीआरडीओ पवेलियन का दौरा किया। उन्होंने एएमसीए, एलसीए एमके-2, स्विफ्ट, निर्भय, यूसीएवी के लिए कावेरी ड्राई इंजन, एसयू-30 एमके के लिए एवॉनिक्स, आरडब्ल्यूआर और जैमर पॉड और डुअल कलर एमएडब्ल्यूएस में गहरी दिलचस्पी दिखाई और स्वदेशी विकास की सराहना की।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें