लोकनायक जयप्रकाश प्रौद्योगिकी संस्थान: ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ विषय पर एक साप्ताहिक कार्यशाला शुरू

लोकनायक जयप्रकाश प्रौद्योगिकी संस्थान: ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ विषय पर एक साप्ताहिक कार्यशाला शुरू

Chhapra: लोकनायक जयप्रकाश प्रौद्योगिकी संस्थान, छपरा के इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के तत्वावधान में बिहार के सभी अभियंत्रण विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए “इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आई.ओ.टी)” विषय पर एक साप्ताहिक कार्यशाला दिनांक 01/08/2020 से शुरू हुई. टेक्विप के अन्तर्गत विश्वबैंक से संपोषित इस कार्यशाला के मुख्य समन्वयक प्रो०अंशु सिन्हा ने बताया कि अब तक राज्य भर से लगभग 400 छात्रों ने उक्त कार्यशाला में पंजीकरण करवाया है.

प्रो सिन्हा ने बताया कि छात्रों के उत्साह और ज्यादा संख्या को देखते हुए प्रतिदिन दो अलग अलग बैच में प्रशिक्षण दी जाएगी. प्रो सिन्हा पूर्व से ही संस्थान के छात्रों को आई.ओ.टी विषय पर सैद्धांतिक व्याख्यान देते आ रहे हैं, उक्त सैद्धांतिक व्याख्यान के समाप्ति के बाद इस हैंड्सऑन कार्यशाला का आयोजन हुआ है जिसमें यूनिअडीया इंटरनेशनल के प्रशिक्षकों के द्वारा संस्थान के छात्रों के साथ साथ अन्य महाविद्यालयों के छात्रों को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है.
इलेक्ट्रिकल एन्ड इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो.ऋषिकेश चौधरी ने समन्वयन समिति के कार्यों की सराहना करते हुए छात्रों को संबोधन में कहा कि “इंटरनेट ऑफ थिंग्स” विषय 21वी सदी की सबसे महत्वपूर्ण तकनीकी खोजों में से एक है, ये रोजमर्रा की वस्तुओं को ‘स्मार्ट’ बनाता है ताकि वे बिना किसी मैनुअल हस्तक्षेप के डेटा को संचारित करने और कार्यों को स्वचालित करने में सक्षम हो सकें.

उन्होंने संस्थान के टेक्विप कोऑर्डिनेटर प्रो ज़फर अयूब अंसारी को इस कार्यशाला को मूर्त रूप देने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया. संस्थान के प्राचार्य डॉ श्रीनारायण शर्मा ने छपरा इंजीनियरिंग कॉलेज के द्वारा लगातार ऐसे कार्यक्रम किये जाने की प्रतिबद्धता को दुहराते हुए कहा कि आई.ओ.टी वर्तमान तकनीकी क्षेत्र की सबसे ज्वलंत विषयों में से एक है जो किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को इंटरैक्टिव स्मार्ट डिवाइस के रूप में कार्य करने की क्षमता प्रदान करती है. बहुत सारे उद्योग अपनी उत्पादकता बढ़ाने और दक्षता में सुधार करने के लिए इस तकनीक को अपने संचालन में अपनाने लगे हैं. अतः अभियांत्रिकी के छात्रों के लिए इस विषय की प्रयुक्तता का ज्ञान अति आवश्यक है.
उक्त कार्यशाला के समन्वयन में संस्थान के अकादमिक इंचार्ज प्रो.सुधीर पाण्डेय व इलेक्ट्रिकल एन्ड इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के प्रो.मनोज भास्कर, प्रो.के.के.चौबे, प्रो.शिवम कुमार, प्रो.श्रध्या सिंह, प्रो.नेहा निहारिका की महत्वपूर्ण भूमिका रही.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें