दीपावली से पूर्व डीएम ने हाईमास्ट लाईट और स्ट्रीट लाईट ठीक करने का दिया निर्देश

दीपावली से पूर्व डीएम ने हाईमास्ट लाईट और स्ट्रीट लाईट ठीक करने का दिया निर्देश

Chhapra: जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के द्वारा समाहरणालय सभागार में नगर निकायों एवं ईईसीएल के पदाधिकारियों के साथ संपन्न हुई समीक्षा बैठक में निदेश दिया गया कि छपरा शहर के सभी प्रमुख पथों पर स्ट्रीट लाईट की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाय.

जिलाधिकारी के द्वारा नगरपालिका चौक से गाँधी चौक, थाना चौक से मौना चौक, दारोगा राय चौक से गुदरी चौक तक के सभी लाईटों को ठीक कराकर रात्रि में पथों पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था करायी जाय. साढ़ा से पुराने बाईपास पथ में वार्ड संख्या 22 होते हुए दारोगा राय चौक तक नया स्ट्रीट लाईट लगायी जाय. इसके ईईसीएल और नगर निगम के पदाधिकारियों को निदेशित किया गया.

जिलाधिकारी के द्वारा शहर में संस्थापित सभी आठ हाईमास्ट लाईट को एक सप्ताह के अंदर चालू कराने का निदेश दिया गया. ईईसीएल के अभियंता के द्वारा बताया गया कि गाँधी चौक स्थित हाईमास्ट लाईट को चालू करा दिया गया है और शेष को शनिवार तक चालू करा दिया जाएगा. जिलाधिकारी के द्वारा सोनपुर मेला को देखते हुए वहाँ दोनों गडक पुल पर भी लाईटिंग की व्यवस्था कराने का निदेश, कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत सोनपुर और ईईसीएल के अभियंता को दिया गया. बैठक में ईईसीएल के अभियंता के द्वारा बताया गया कि नगर निगम क्षेत्र के 40 वार्डों में 3300 लाईट लगा दिया गया है. इसपर जिलाधिकारी के द्वारा पाँच दिनों के अंदर नगर निगम और ईईसीएल के कनीय अभियंताओं की टीम से इस कार्य का सत्यापन कराने का निदेश दिया गया.

रिविलगंज नगर पंचायत क्षेत्र में दिन में भी स्ट्रीट लाईट जलते रहने की शिकायत मिलनें पर जिलाधिकारी के द्वारा वहाँ के कार्यपालक पदाधिकारी से स्पष्टीकरण की माँग की गयी तथा वहाँ के कनीय अभियंता को चेतावनी दी गयी कि अगर ऐसा पुनः पाया जाएगा तो उनके मानदेय से 10 प्रतिशत राशि की कटौती करायी जाएगी.

हर घर नल का जल योजना की समीक्षा में आयुक्त नगर निगम के द्वारा बताया गया कि 9 वार्डो में यह कार्य पूर्ण हो गया है परन्तु एजेंसी के द्वारा अभी दूसरे चरण का कार्य प्रारंभ नही किया गया है. उसपर जिलाधिकारी के द्वारा नराजगी व्यक्त की गयी और बुडको के कार्यपालक अभियंता को निदेश दिया गया कि नगर विकास एव आवास विभाग के प्रधान सचिव को पत्र के माध्यम से सूचित कर दिया जाय ताकि कार्यकारी एजेंसी के विरुद्ध कार्रवाई की जा सके. सभी नगर पंचायत में इस कार्य की प्रगति की समीक्षा की गयी और निदेश दिया गया कि नल-जल की सभी योजना को इस माह में पूर्ण करा ली जाय.

घर तक पक्की नली-गली योजना की समीक्षा के क्रम में नगर आयुक्त के द्वारा बताया गया कि नगर निगम के सभी वार्डों में 482 योजनाओें को लिया गया था जिसमें 382 योजना पर कार्य प्रारंभ किया गया. कुल 185 योजनाओं को पूर्ण करा लिया गया है. जिलाधिकारी के द्वारा निदेश दिया गया कि सभी वार्डों का सर्वे करा लें तथा जो योजना छुट गयी है उसे शामिल करते हुए नवम्बर माह के प्रथम सप्ताह में सभी योजनाओं पर कार्य प्रारंभ करा दें. कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत रिविलगंज के द्वारा बताया गया कि कुल चयनित 213 योजनाओं में 86 योजना पूर्ण है तथा 80 योजना के लिए विज्ञापन निकाल दिया गया है. शेष योजना के लिए प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है. अभी तक प्राक्कलन नही तैयार करने पर जिलाधिकारी के द्वारा नाराजगी प्रकट की गयी और कार्यपालक पदाधिकारी से स्पष्टीकरण करते हुए एक सप्ताह में प्राक्कलन तैयार कर निविदा निकालने का निदेश दिया गया.

बैठक में जिलाधिकारी के साथ प्रशिक्षु आईएएस श्री वैभव श्रीवास्तव, आयुक्त नगर निगम छपरा, कार्यपालक अभियंता बुडको, सभी नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी एवं अभियंता उपस्थित थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें