शादियां टलने से फूल वाला, बैंड, बेटर, मसालची, सफाईकर्मी आदि पर रोजी-रोटी का संकट, लगभग बूकिंग हुई कैन्सल

शादियां टलने से फूल वाला, बैंड, बेटर, मसालची, सफाईकर्मी आदि पर रोजी-रोटी का संकट, लगभग बूकिंग हुई कैन्सल

एक बार फिर से संकट के बादल छा गए है. बड़े उम्मीद से इस वर्ष पिछले वर्ष की भरपाई की आस लिए शादियों की बूकिंग शुरू हुई थी. लेकिन एक बार फिर से कोरोना के पाँव पसारते के साथ कई लोगों पर रोजी रोटी का संकट गहराने लगा है. शादियों की बूकिंग तो हुई लेकिन नई गाइडलाइन के बाद आधी से ज्यादा बूकिंग कैन्सल होती दिख रही है.

ऑल बिहार टेट डेकोरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने बताया कि नयी गाइडलाइन लागू होने से बुकिंग पर काफी असर पड़ा रहा है. सब लोग कैंसिल करना चाहते है. लेकिन पार्टी को समझा रहे हैं. पिछले साल भी कोरोना का भेंट चढ़ गया. उन्होंने बताया कि एक दिन की बुकिंग में एक मैरेज हॉल से कम से कम 40-50 लोगों को रोजगार मिलता है. अब ये उसे भी प्रभावित करेगा.

बैंक्वेट हॉल के मालिक, फूल वाला, बग्धी वाला, बैंड, शहनाई, बेटर, मसालची, कूक, सफाईकर्मी और बिजली मिस्त्री ने बताया कि हम इस साल होने वाली शादियों के जरिए 2020 में हुए अपने नुकसान की भरपाई करना चाहते थे, लेकिन ऐसा लगता है कि हमारे मुश्किल दिन अभी खत्म नहीं हुए हैं. लग्न से ही इनका जीवन यापन चलता है. लेकिन बुकिंग कैंसिल होने से हम सभी बेरोजगार हो गये हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें