छपरा के आमी घाट से 10 फिट के घड़ियाल को किया गया रेस्क्यू 

आमी घाट से 10 फिट के घड़ियाल को किया गया रेस्क्यू 

Chhapra: सारण जिला के दिघवारा धामी घाट पर नदी से बाहर निकल आए एक घड़ियाल को वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू किया। सूचना पर वनपाल भीम कुमार, वन रक्षक मनीषा कुमारी और सुवेन्दु शेखर मौके पर पहुंचे और घड़ियाल को बचाया।

वन प्रमंडल पदाधिकारी सारण, रामसुंदर ने कहा कि पशु चिकित्सक द्वारा प्रारंभिक निरीक्षण और टैगिंग के बाद इसे वापस गंडक नदी में छोड़ दिया जाएगा।

बचाया गया घड़ियाल 10 फीट लंबा है और लोग आमतौर पर इसे मगरमच्छ समझ लेते हैं। घड़ियाल प्राकृतिक रूप से गंडक नदी में पाया जाता है और यह सूर्य की रोशनी के लिए नदी से बाहर किनारों पर आता है। घड़ियाल मछली खाने वाला है, यह आमतौर पर हानिरहित होता है और मनुष्यों पर हमला नहीं करता है। उकसाए जाने पर यह हमला कर सकता है।

यह वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षित है और घड़ियाल को नुकसान पहुंचाने पर 3 साल की जेल और जुर्माना लगेगा।

0Shares
A valid URL was not provided.