बिहार के हर 10 पंचायतों पर बनेगा पशु अस्पताल

बिहार के हर 10 पंचायतों पर बनेगा पशु अस्पताल

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सात निश्चय पार्ट -2 के तहत राज्य में हर आठ- दस पंचायतों के बीच एक पशु अस्पताल का निर्माण किया जायेगा. इससे पशुपालक आसानी से पशुओं का इलाज करा पायेंगे. पशु टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान, डोर स्टेप डिलीवरी आदि की सुविधाएं मुहैया कराने की भी व्यवस्था की जा रही है. सरकार चाहती है कि सही मायने में बिहार का विकास हो. लोगों का स्वास्थ्य और स्वभाव बेहतर रहे. गायों के प्रति विशेष प्रेम दिखाते हुए सीएम ने कहा कि हमने भी गाय को पाल रखा है. मुख्यमंत्री शुक्रवार को बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के नये भवनों के शिलान्यास के बाद दशरथ मांझी श्रम एवं नियोजन अध्ययन संस्थान के ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. अंतरराष्ट्रीय मानक से विकसित होने वाले इस विवि परिसर में देश का सबसे बड़ा पशु अस्पताल भी होगा. इन भवनों के निर्माण पर 889.26 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

सीएम ने कहा कि पहले जिन बच्चों को इंजीनियरिंग में प्रवेश नहीं मिलता था, वे कृषि कॉलेजों में प्रवेश ले लेते थे. इंजीनियरिंग में एडमिशन मिलते ही कृषि की पढ़ाई छोड़कर चले जाते थे. लेकिन, अब युवाओं का कृषि एवं पशुपालन के क्षेत्र में आकर्षण बढ़ रहा है. सरकार भी उनकी भावनाओं का सम्मान कर रही है. पढ़ाई के लिए हर महीने दो हजार रुपये दे रही है. पुस्तकों के लिए भी छह हजार रुपये उपलब्ध करा रही है. पशुपालन और कृषि क्षेत्र में शोध को बढ़ावा दे रही है. इसी क्रम में बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के भवनों का निर्माण किया जा रहा है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें