Jul 22, 2017 - Sat
Chhapra, India
28°C
Wind 2 m/s, SSW
Humidity 94%
Pressure 750.06 mmHg

22 Jul 2017      

Home संपादकीय आपकी कलम से

{अमन कुमार}: आज विश्व स्वास्थ्य दिवस है. अपनी भाग दौड़ भरी जिंदगी में सभी स्वस्थ तो रहना चाहते हैं. लेकिन, आज की स्थिति कुछ और ही तस्वीर बयां करती है. लोगों पर बढ़ते काम के बोझ और पैसे कमाने की ललक ने उन्हें अपने हेल्थ के प्रति लापरवाह बना दिया है. कहीं न कहीं लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति उतने जागरूक नही है और यही कारण है कि आज ऐसे ही लोग कई तरह की बिमारियों से ग्रस्त हैं.

भारत जैसे विकासील देश में स्वास्थ्य भी एक बहुत बड़ी समस्या है. किसी भी इंसान को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना बहुत ही जरूरी है. कहते हैं स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है.

आज देश में ऐसे लाखों बच्चे हैं जो कुपोषण से ग्रस्त हैं. यूँ कहे तो आज हमारा देश कई तरह की नयी-नयी बिमारियों के चंगुल में घिरता जा रहा है. बिमारियों की शुरआत कहीं न कहीं लोगों के असमान्य और अव्यवस्थित जीवन शैली से हो रही है. ऐसा प्रतीत होता है जैसे लोगों का अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना उनके एजेंडे का हिस्सा ही नहीं है. देश में कई ऐसे लोग हैं जो कई प्रकार की जानलेवा बीमारियों से जूझ रहे है और पल-पल जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं.
असंतुलित खानपान भी इन रोगों के विस्तार की सबसे बड़ी वजह है.

देश की आधी आबादी महिलाएं सबसे ज्यादा ह्रदय रोग की चपेट में हैं. हर साल हजारों महिलाओं की मौत हृदय रोग से हो जाती है. आज मधुमेह, टीबी, कैंसर जैसे घातक रोग तेजी से फैल रहे हैं. शुरुआत में हम इन जानलेवा बीमारियों के शुरुआती लक्षणों पर बिल्कुल ध्यान नही देते. इन्हें हलके में लेते हुए टालने की आदत से हो गयी है. फिर जब समय के साथ जब ये बीमारी हमारे ऊपर विकराल रूप धारण कर लेती है तब लोग डॉक्टर के पास जाते है.

देश के भविष्य माने जाने वाले युवा भी अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग नही है. तम्बाकू की लत व फ़ास्ट फ़ूड का क्रेज़ उन्हें दिन-प्रतिदिन बीमारियों की तरफ धकेल रहा है. आकड़ो के मुताबिक देश में कई लाखों युवा हैं जो बहुत कम उम्र में ही कई तरह के रोगों से ग्रस्त हैं. युवाओं में स्वास्थ्य के प्रति असजग रहना बहूत ही चिंतनीय है. दिन प्रतिदिन आधुनिक हो रहे भारत में मनोरोग भी एक बहुत बड़ी समस्या है. देश में ऐसे बहूत सारे लोग है जो मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं हैं. ऐसा कहा जाता है कि अगर किसी इंसान का दिमाग सही से काम नही कर रहा तब फिर उसका शरीर ठीक से काम कर ही नही सकता. आज ऐसे बहुत सारे लोग है जो अवसाद से ग्रस्त हैं. ऐसे रोग बहूत ही खतरनाक हैं.

देश सहित दुनिया भर में ऐसी कई सारी संस्थाएं हैं जो हेल्थ से जुडी सभी समस्याओं तथा पहलुओं पर लोगों हित में काम कर रहीं हैं. वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन भी उनमे से एक सबसे बड़ी संस्था है. जो सालों लोगो की मदद करती आयी है. निरोग रहने के लिए लोगों को ज़रुरत है कि वे अपने हेल्थ को लेकर जागरूक रहे और अन्य लोगों में जागरूकता फैलाएं. संतुलित आहार ले, व्यायाम करे और योग भी करना बहुत लाभदायक सिद्ध होता है.

(Visited 10 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!