सांसद होकर IPL में क्यों करते हैं काम? गौतम गंभीर ने क्या कहा सुनिए

पूर्व क्रिकेटर और मौजूदा सांसद गौतम गंभीर हाल ही में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ थे. गौतम गंभीर पर अक्सर इस बात को लेकर निशाना साधा जाता था कि वह सांसद होने के बाद भी आईपीएल या कमेंट्री कर पैसा कमाते हैं, अब गौतम ने ऐसे सवाल करने वालों की बोलती बंद की है.

गौतम गंभीर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि वह जो जन रसोई अभियान चलाते हैं, वह उनका निजी खर्चा है. उसमें वह बतौर सांसद मिलने वाले फंड का इस्तेमाल नहीं करते हैं, ऐसे में अगर इसके लिए पैसा खर्च करना है तो उन्हें काम करना ही पड़ेगा.

गौतम गंभीर ने कहा, ‘एक महीने में 5000 लोगों को खाना खिलाने के 25 लाख रुपये लगते हैं. साल के 2.75 करोड़ रुपये हो गए. 25 लाख रुपये लगे हैं मुझे वो लाइब्रेरी बनाने में. ये MPLAD फंड से नहीं बने. MPLAD फंड से 5000 लोगों के लिए जन रसोई नहीं चल रही है. इन लोगों को खिलाने के लिए और लाइब्रेरी बनाने के लिए मुझे काम करना पड़ता है. मुझे कोई शर्म नहीं है ये कहने में कि हां मैं कमेंट्री करता हूं या IPL में काम करता हूं. पर उसके पीछे एक बहुत बड़ा मकसद है.’

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें