सोनपुर मेला को प्रदान किया जाएगा आधुनिक स्वरूप: जिलाधिकारी

सोनपुर मेला को प्रदान किया जाएगा आधुनिक स्वरूप: जिलाधिकारी

Chhapra/Sonpur: विश्व प्रसिद्ध हरिहर क्षेत्र सोनपुर मेला की तैयारी की समीक्षा जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन की अध्यक्षता में सोनपुर अनुमंडल सभागार में की गयी.

इस समीक्षा बैठक में विधायक सोनुपर रामानुज प्रसाद, उप विकास आयुक्त आदित्य प्रकाश, अपर समाहर्त्ता अरुण कुमार सहित जिला स्तरीय पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी, डी.सी.एल.आर. सोनपुर, मेला समिति के सदस्यगण आदि उपस्थित थे.

साफ-सफाई, पेयजल और प्रकाश की समुचित व्यवस्था
जिलाधिकारी के द्वारा सभी पदाधिकारियों एवं अभियंताओ को निदेश दिया गया कि मेले से संबंधित सभी कार्यों को ससमय पूर्ण करायी जाय और मेले को आधुनिक स्वरूप दिया जाय. साफ-सफाई, पेयजल और प्रकाश की समुचित एवं बेहतर व्यवस्था करायी जाय ताकि जो लोग भी मेला से जाएँ एक अच्छी अनुभूति लेकर जाएँं.

जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार पूरे मेला क्षेत्र को दो भागों में बाँटकर सफायी की बेहतर प्रबंध किया जा रहा है. इसके लिए निविदा के माध्यम से दो अलग-अलग एजेन्सियों का चयन किया गया है. जिलाधिकारी के द्वारा निदेश दिया गया कि 2 नवम्बर से 8 नवम्बर के बीच मेला क्षेत्र में जाने वाली पथों के दोनों तरफ की सफायी करायी जाय. घाटों की सफायी कराने का भी निदेश दिया गया.

जिलाधिकारी ने कहा कि इस मेले की पहचान पशु मेले के रूप में रही है. इस बार हाथी पालकों से भी संपर्क किया गया है और आशा है बड़ी संख्या में हाथी, घोड़े और गाय मेले में आयेंगी.

जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार रग्बी फुटवाल (पुरूष एवं महिला) तथा पारम्परिक भारतीय परिधान में फैशन शो को जोड़ा जा रहा है. फैशन शो के लिए 40 फीट लम्बा रेम्प बनाने की व्यवस्था करायी जा रही है. खेलों में फुटबाल, हैण्डवाल, क्रिकेट, कबड्डी, रग्वी फुटबॉल, रस्सा-कस्सी, कुश्ती, दंगल प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाएगा.

खेलों के पुरस्कार राशि में हुआ बढ़ोत्तरी
जिलाधिकारी ने कहा कि इन खेलों के पुरस्कार राशि में भी बढ़ोत्तरी की गयी है. अब प्रथम स्थान पर विजेता को 20 हजार, द्वितीय स्थान के लिए 15 हजार एवं तृतीय स्थान के लिए 10 हजार का पुरस्कार दिया जाएगा.

मेला में पर्यटक ग्राम, ग्रामश्री मंडप, शिल्प एवं हस्ताकला गैलरी तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम आकर्षण के केन्द्र रहेंगे. इसके अतिरिक्त विभिन्न सरकारी विभागों की प्रदर्शनी भी लगेंगी जो काफी रोचक और जानकारीप्रद होंगी. मेले में रामायण मंचन की भी व्यवस्था करायी जा रही है. जहाँ प्रसिद्ध कलाकारों के द्वारा रामालीला दिखायी जाएगी. मेले में स्वास्थ्य कैम्प भी लगेगा और पशु चिकित्सालय भी खोला जाएगा. मेले में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था रहेगी इसके लिए चौकियाँ खोली जाएगी. मोटर साइकिल एवं पैदल पेट्रोलिंग की जाएगी और यातायात प्लान तैयार किया जाएगा. मेला अवधि के दौरान अतिरिक्त बसे चलाने एवं मेला स्पेशल ट्रेन चलाने की भी व्यवस्था करायी जा रही है.

विधायक रामानुज प्रसाद ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा गया कि यह मेला सोनपुर की पहचान है. बदले हुए परिस्थिति में मेला को कैसे बेहतर बनाया जाय इसका प्रयास होना चाहिए. इसका पौराणिक, धार्मिक, ऐतिहासिक महत्व होने के साथ-साथ आर्थिक महत्व भी है. यहाँ के लोगों को इससे रोजगार के अवसर मिलता है. उन्होंने कहा कि मेले में स्वच्छता, स्वास्थ्य और विधि व्यवस्था पर पैनी नजर रखनी होगी.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें