मतदान प्रतिशत रहा कम, मतदाताओं पर तेज धूप और रमज़ान का दिखा असर

मतदान प्रतिशत रहा कम, मतदाताओं पर तेज धूप और रमज़ान का दिखा असर

Chhapra: महाराजगंज संसदीय क्षेत्र को लेकर मतदान की प्रक्रिया सम्पन्न हो चुकी है. रविवार को हुए इस मतदान को प्रक्रिया में काफी जद्दोजहद के बाद सिर्फ 51.2 प्रतिशत मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया. मतदान प्रक्रिया समपन्न होने के साथ ही इस क्षेत्र से अपना भाग्य आजमा रहे 11 प्रत्याशियों की किस्मत भी ईवीएम में कैद हो गयी है.

रविवार को सम्पन इस मतदान में मतदाताओं पर तेज धूप और रमज़ान का असर सीधा देखने को मिला. रविवार को तापमान 42 डिग्री तक पहुंचा था. सुबह से ही लोग अपने घरों से निकलकर मतदान करने के लिए मतदान केंद्रों तक पहुंचे. प्रारंभिक चरणों मे केंद्रों पर लंबी लंबी कतारें देखी गयी लेकिन जैसे जैसे दिन चढ़ा मतदाताओं की लाइन छोटी होती गयी. हालांकि संध्या समय मे एक बार फिर मतदाताओं की संख्या केंद्रों पर दिखी बावजूद इसके महाराजगंज में मतदान का प्रतिशत संध्या 6 बजे तक 51.2 प्रतिशत ही पहुंच पाया.

महाराजगंज लोकसभा चुनाव: ऐसे चला वोटिंग प्रतिशत का ग्राफ
महराजगंज लोकसभा क्षेत्र मतदान प्रतिशत (विधानसभावार)

111- गोरियाकोठी 51.83%
112- महाराजगंज 52.13%
113- एकमा 54%
114- मांझी 50.49%
115- बनियापुर 54.53%
116- तरैया 54.35%

मतदान प्रतिशत कम होने के यह है मुख्य तीन कारण

महाराजगंज संसदीय क्षेत्र पर मतदान की प्रक्रिया समाप्त हो गयी है. इस क्षेत्र से सिर्फ 51.2 प्रतिशत मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया. मतदान का प्रतिशत कम होने के मुख्यतः तीन कारण बताए जा रहे है.

पहला कारण
मतदाताओं के अनुसार मतदान कम होने के मुख्य कारण रविवार की तेज धूप थी. सुबह से ही चिलचिलाती धूप ने मतदाताओं के चेहरे पर शिकन ला दी. केंद्रों पर व्यवस्था थी लोग लाइन में भी लगे लेकिन उसके बाद आने वाले मतदाता लंबी कतार देख धूप में नही खड़े हुए. तेज धूप और गर्मी का असर मतदाताओं पर सीधे दिख रहा था. यही कारण है कि जैसे जैसे दिन चढ़ा मतदाताओं की कतार कम होती गयी.

दूसरा कारण
महाराजगंज के मुस्लिम बहुल मतदान केंद्रों पर रमज़ान के कारण भी मतदान का प्रतिशत कम रहा. रमज़ान में रोजा रखने वाले मतदाताओं को संख्या अधिक थी धूप के कारण लोग घरों में ही दुबके रहे. मतदाताओं की कतार खत्म होने के इन्तेजार में थे. हालांकि संध्या समय मे रोजेदार मतदाता घरों से निकले लेकिन रोज़े की तैयारियों ने महिला मतदाताओं को घरों में रहने को मजबूर कर दिया.

तीसरा कारण
इस चुनाव में मतदान प्रतिशत कम होने के सबसे बड़ा कारण था मतदाताओं में मतदान प्रक्रिया के प्रति अधूरी जानकारी. जिला प्रशासन द्वारा मतदान की प्रक्रिया से मतदाताओं को बखूबी अवगत कराया गया लेकिन इसका असर देखने को नही मिला. मतदान की सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद भी मतदाता ईवीएम तक जाकर उसे दबा नही पाते थे. जिसके कारण एक मतदाता को अपने मतदान करने के लिए 2 से 5 मिनट का समय लग रहा था. वही महिला मतदाताओं के लिए प्रक्रिया 10 मिनट तक पहुंच जा रही थी. केंद्रों पर मतदान कर्मियों के प्रयास के बावजूद भी एक मतदान में 2 से 4 मिनट का समय लग रहा था. जिससे मतदान का प्रतिशत कम रहा.

कुल मिलाकर महाराजगंज संसदीय क्षेत्र के चुनाव में रविवार का दिन होने के बावजूद मतदान पर गर्मी का सितम और रमज़ान हावी दिखा.

[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें