महिला शक्ति: विधानसभा चुनाव में नेतृत्व करेंगी महिलाएं

महिला शक्ति: विधानसभा चुनाव में नेतृत्व करेंगी महिलाएं

महिलाओं को मुख्य धारा से जोड़ने का है संकल्प: माधवी

Saran/Manjhi: बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा स्थानों पर नेतृत्व करने का मौका मिलेगा. गुरुवार को जदयू सारण की महिला जिला अध्यक्ष माधवी सिंह ने मांझी विधानसभा के बसडीला स्थित कार्यालय में जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद आरसीपी सिंह के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की. इस दौरान बैठक में चुनावी तैयारियों और इसमें महिलाओं की भूमिका ऊपर चर्चा की गई. इस पर आरसीपी सिंह ने जदयू महिला अध्यक्षों को चुनाव की तैयारी तेज करने का निर्देश दिया. उन्होंने निर्देश दिया कि जदयू की एक एक महिला कार्यकर्ता क्षेत्र में जाएं और वहां की जनता और महिलाओं से बात करके सरकार की एक- एक योजना को गिनाएं.

सारण व मांझी विधानसभा में जोड़ी गयी हज़ारों महिला कार्यकर्ता

इस दौरान जदयू सारण की महिला जिलाध्यक्ष माधवी सिंह ने कहा कि 2020 विधानसभा चुनाव महिला सशक्तिकरण का एक बड़ा संदेश जाएगा. सारण में जदयू ने अब तक हजारों महिला कार्यकर्ताओं को जोड़ लिया है और आगे भी जोड़ने का काम किया जा रहा है. विस चुनावों में अगर महिलाओं को नेतृत्व मौका मिलता है तो बिहार में विकास की एक नई गाथा लिखी जाएगी.

वर्चुअल मीटिंग के दौरान माधवी सिंह के साथ सारण जिला जदयू की तमाम महिला कार्यकर्ताओं ने भी हिस्सा लिया. इस मौके पर जिलाध्यक्ष ने कहा कि बिहार के महिलाओं को नीतीश कुमार ने जिस तरह से आगे बढ़ाने का काम किया है. बिहार राज विकास के रास्ते पर अग्रसर है इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिलाओं का विकास किया है.

महिलाओं को मुख्य धारा से जोड़ने का है संकल्प: माधवी

जदयू का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को मेनफ्रेम में लाकर काम करना होगा और इस क्रम में बिहार सरकार सबसे बढ़िया काम कर रही है. इस दौरान सरकार द्वारा महिलाओं के लिए किये गए योजनाओं का जिक्र किया गया. माधवी सिंह कहा कि जदयू का फोकस महिला सशक्तिकरण पर है. महिलाओं को उनका हक, उन्हें सम्मान दिलाना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना यही महिला सशक्तिकरण का बड़ा उदाहरण है. जदयू पार्टी ने यह पिछले 15 सालों में कर दिखाया है. माधवी सिंह न कह कि 100 फीसदी महिलाओं को सशक्त बनाना चाहते हैं इसके लिए उसी सरकार जो भी योजना बनाएगी हम एक एक महिलाओं तक पहुंचाने का काम करेंगे.

15 सालों में वापस में महिलाओं का खोया सम्मान

ऑनलाइन मीटिंग के दौरान आरसीपी सिंह ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार सरकार ने महिलाओं को सम्मान दिलाया है. 15 साल पहले के बिहार में महिलाओं की क्या स्थिति थी और आज महिलाओं की क्या स्थिति है यह सब जानते हैं. पहले शिक्षा का तो नामो निशान नहीं था, लालू राज में सड़के नहीं थी. यहां तक कि बेटियों को घर से निकलने के लिए मनाही थी. बेटियों को पढ़ने तक नहीं दिया जाता, लेकिन नीतीश कुमार के आने के बाद बेटियों के लिए योजनाएं, महिलाओं के लिए योजनाएं बेटियों को पढ़ाया, बेटियों के जन्म से लेकर शादी होने तक और फिर मां बनने तक उन्हें आर्थिक सहायता से लेकर हर चीज उपलब्ध कराया गया. बिहार सरकार ने महिला सशक्तिकरण, आत्मनिर्भर महिला का नारा दिया है. इस मौके पर बबिता सिंह, राखी सिंह, संध्या सिंह, अंजना देवी पम्मी सिंह आदि मौजूद रही.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें