सरकारी फरमान के बाद भी हड़ताल, शिक्षको के लिये शुभ संकेत: समरेंद्र

सरकारी फरमान के बाद भी हड़ताल, शिक्षको के लिये शुभ संकेत: समरेंद्र

लहलादपुर: नियोजित शिक्षकों की हड़ताल 6ठे दिन भी जारी है. समान काम समान वेतन सहित हूबहू नियमित शिक्षको की तरह सेवाशर्त की मांग को लेकर जारी इस हड़ताल में सभी शिक्षको का भरपूर सहयोग मिल रहा है. शिक्षक अपनी मांगों को लेकर बीआरसी में धरना दे रहे है.

शनिवार को परिवर्तनकारी शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष समरेंद्र बहादुर सिंह लहलादपुर प्रखण्ड का दौरा करते हुए हड़ताली शिक्षको का उत्साहवर्द्धन किया गया.

हड़ताली शिक्षको को सम्बोधित करते हुए शिक्षक नेता समरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि शिक्षको की एकता से सरकार भयभीत दिख रही है, सरकार प्रतिदिन नए नए हथकंडों को अपनाकर शिक्षको की एकता को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन हमे टस से मस नही होना है. एकता में ही बल होता है. आपकी चट्टानी एकता को मैं सलाम करता हूं और पूर्ण विश्वास के साथ कहता हूं कि जबतक सरकार समान काम के लिए समान वेतन और नियमित शिक्षको की तरह हूबहू सेवाशर्त नही दिया जाता तब तक यह हड़ताल जारी रहेगा.

श्री सिंह ने कहा कि सरकार की तरफ से रोज एक पत्र निकल रहा है शिक्षको पर कार्रवाई की जा रही है. इसके बावजूद यह आंदोलन अगर जारी है तो यह शिक्षको की जीत है. शिक्षक अपने हक के लिए बाध्य होकर हड़ताल पर है. धरना, प्रदर्शन, आवेदन देने और लाठी, आंसू गैस के गोले खाने तथा जेल जाने के बाद शिक्षक हड़ताल पर है सूबे के मुखिया श्री कुमार उन्हें अब बर्ख़ास्त करने का पत्र जारी करवा रहे है.

उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि मुख्यमंत्री जी सूबे में 4 लाख नियोजित शिक्षक अगर हड़ताल पर है तो यह आपको यह कुर्सी से बर्खास्त करने का काम भी करना जानते है. आपका पत्र आपपर ही भारी पड़ सकता है.

इसके अलावे सभा को संजय राय, नरेंद्र कुमार राय, अविनाश कुमार पिंटू, विनोद राय, इंद्रजीत, कामेश्वर प्रसाद, केशव तिवारी, शिव तिवारी, शोभा कुमारी, आशा कुमारी, अनिता कुमारी, संगीता कुमारी, रुखसाना, शहनाज बानो, असगरी बानो, असगरी खातून, मनीषा परवीन, सीमा परविन शामिल थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें