अमनौर में रेणु जन्म शताब्दी समारोह का हुआ आयोजन

अमनौर में रेणु जन्म शताब्दी समारोह का हुआ आयोजन

Chhapra: “रेणु जन्म शताब्दी समारोह” होतीलाल रामनाथ महाविद्यालय,अमनौर( जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा) के सभागार कक्ष में महान कथाकार फणीश्वर नाथ रेणु की 100 वीं जयंती के अवसर पर हिन्दी विभाग द्वारा आयोजित किया गया. कार्यक्रम का प्रथम सत्र प्रभारी प्रचार्य डॉ. सुरेन्द्र कुमार गुप्ता की अध्यक्षीय भाषण से हुआ. हिन्दी विभागाध्यक्ष बीज वक्तव्य प्रस्तुति के साथ मंच का संचालन का किया.


कार्यक्रम का प्रथम सत्र का शुभारंभ पुष्पार्पण के साथ केक काटकर किया गया. आगे की कार्यवाही प्रस्तावित विषय “रेणु संवाद” अधिसत्र के रूप में संचालित हुआ. जिसमें प्रमुख वक्ता राजनीतिशास्त्र के सहायक प्राध्यापक सोनु कुमार, गौरव मिश्रा, हिन्दी की प्रियंका कुमारी एवं रसायनशास्त्र के डा. विकास कुमार सिंह ने रेणु के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला. रेणु को याद करते हुए डॉ. रणजीत कुमार ने कहा कि रेणु विश्व के अकेले ऐसे लेखक हैं जिन्होंने दो देश की आजादी के लिए लड़ाईयां लड़ी. वही़ भारत के एकलौते ऐसे लेखक हैं जो स्वतंत्रता आन्दोलन के साथ-साथ लोक नायक जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में संपूर्ण क्रान्ति में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया.

उन्होने कहा कि इतना ही नहीं आपातकाल के विरोध में उन्होंने पद्मश्री पुरस्कार भी लौटा दिया था. “मैला आंचल” जो विश्व में कालजयी उपन्यास के रूप में ख्यातिलब्ध है.उसमें जिस तरह सन् 42 के भारत छैड़ो आन्दोलन से लेकर 1954 ई. तक के आजाद भारत की ग्राम्य भारत मां की झांकी प्रस्तुत की गई है, वह एक दुर्लभ दस्तावेज है. उनकी कहानियों, रिपैतार्जों, कविताओं एवं एक संपादक के रूप में प्रकाशित आलेखों में पूरे भारत खासकर बिहार का रस, राग, गंध, स्पर्श, स्बाद अपने लौकिक-अलौकिक मान्यताओं के साथ सजीव रूप में चित्रित मिलता है.


वही दूसरा सत्र “काव्य-पाठ” के रूप में क्रियान्वित हुआ. जिसमें शिक्षकों के अतिरिक्त छात्र-छात्राओं ने अपनी-अपनी मौलिक कविता प्रस्तुत किए. इनमें सोनु कुमार ने ठेस एवं लाल पान की बेगम आधारित कविता का पाठ किया वही डॉ. रणजीत कुमार ने “ऋषि रेणु” एवं मगहिया बोली में “बसंत गीत” का पाठ किया. छात्र-छात्रा कवियों में शबाब हुसैन, सारिका कुमारी, पूजा कुमारी, नेहा कुमारी ,प्रियंका कुमारी, रीना कुमार, सुरज कुमार, विक्की कुमार एवं राहुल कुमार ने कविता पाठ किया. कार्यक्रम में मो. परवेज अहमद, डॉ. समीर कुमार, डॉ. पप्पु कुमार, डॉ. मनीष कुमार, डॉ. तेज प्रताप आजाद, डॉ. कपिल देव नारायण सिंह, डॉ. असदुल्लाह, डॉ. जितेन्द्र कुमार सिंह, डॉ. सुर्यदेव राम, डॉ. अनिल कुमार, डॉ. राजेश कुमार आदि के साथ साथ पच्चास से अधिक छात्र-छात्रा शामिल हुए. धन्यवाद ज्ञापन गौरव मिश्रा ने किया.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें