Panapur: बीडीसी की बैठक में छाया शिक्षा, स्वास्थ्य का मुद्दा

Panapur: बीडीसी की बैठक में छाया शिक्षा, स्वास्थ्य का मुद्दा

Panapur: बीडीसी की बैठक में छाया शिक्षा, स्वास्थ्य का मुद्दा

Panapur: प्रखंड मुख्यालय स्थित ई किसान भवन में बुधवार को बीडीसी की पहली बैठक आयोजित की गई. प्रखंड प्रमुख पुष्पा देवी एवं प्रभारी पंचायती राज पदाधिकारी तरुण कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में शिक्षा एवं स्वास्थ्य का मुद्दा छाया रहा.

बैठक की शुरुआत में प्रभारी पंचायती राज पदाधिकारी ने सभी नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों का एकदूसरे से परिचय कराया. बाद में उन्होंने सात स्थायी समितियों के गठन पर चर्चा करते हुए बताया कि प्रत्येक स्थायी समिति में कम से कम तीन सदस्य होंगे.

उन्होंने बताया कि यह समिति भी अलग से अपनी बैठक आयोजित कर विभिन्न योजनाओं एवं समस्याओं को बीडीसी की बैठक में पटल पर रख सकेंगे. धेनुकी पंचायत के बीडीसी सदस्य श्रीभगवान प्रसाद ने अपनी आपबीती सुनाते हुए एक जनवितरण दुकानदार द्वारा दुर्व्यवहार की शिकायत की.

उन्होंने कहा कि वह जनवितरण दुकानदार 5 किलो के बदले 4 किलो अनाज देता है. उन्होंने कोरोना काल के दौरान मध्य विद्यालय धेनुकी में एमडीएम योजना के खाद्यान्न वितरण में अनियमितता की भी शिकायत की.

वही रसौली पंचायत के बीडीसी बिंदेश्वरी सिंह ने बीईओ से विद्यालयो के खुलने एवं बंद होने की जानकारी एवं शिक्षकों की सूची उपलब्ध कराने की मांग की.

भोरहा पंचायत की बीडीसी सदस्या वीणा देवी ने भोरहा पंचायत में आशा कार्यकर्ताओं की बहाली का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यह बहाली नियमो को ताक पर रखकर की गयी है.

उन्होंने इसकी जांच कराने की मांग की. इसके अलावे सदस्यों ने आंगनबाड़ी, रसौली स्थित जमींदारी बांध का भी मुद्दा उठाया.

बैठक में बीडीओ राकेश रौशन, सीओ रणधीर प्रसाद, बीईओ अशोक कुमार, उपप्रमुख कुसुम देवी, एमओ अजीत कुमार, प्रखंड कल्याण पदाधिकारी ज्ञान रंजन, मुखिया अमरेंद्र कुमार सिंह, पूनम देवी सहित सभी जनप्रतिनिधि मौजूद थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें