छपरा में चाचा ने भतीजी को बनाया हवस का शिकार

छपरा में चाचा ने भतीजी को बनाया हवस का शिकार

Chhapra: जब जन्मदाता और पालन पोषण करने वाला ही भक्षक बन जाए तो बेटियां किस पर करेगी भरोसा. ऐसा ही मामला छपरा के अवतारनगर थाना क्षेत्र में नजर आया. जहां नाबालिग ने आरोप लगाया है कि उसका चाचा ने उसके साथ जबरन धमकी देकर बार बार दुष्कर्म किया. यह सिलसिला तब शुरू हुआ जब पीड़िता की माँ के पटना में मरने के बाद उसके चाचा श्राद्ध कर्म करने के लिए गाँव लेकर आए. उसके कुछ दिनों बाद से ही लगातार धमकी देकर 3 महीने से भी ज्यादा समय तक बलात्कार को अंजाम दिया. जब पीड़िता ने अपनी चाची को इसकी जानकारी दी. तो चाची ने बजाय मदद करने के पीड़िता को यह कहा कि या तो तुम अपने आप को मार लो,या अपने चाचा को मार दो.

इसके बाद पीड़िता अपने छोटे भाईयो को लेकर किसी तरह पटना चली गई, पटना के राजेन्द्र नगर हनुमान मंदिर के पास पीड़िता ने किसी से सहायता मांगी तो उसने इसे एक NGO से मिलवाया. तब NGO ने पीड़िता को कदमकुआं थाने में ले जाकर कानूनी कार्रवाई शुरू करवाया, पीड़िता का मेडिकल करवाया गया,उसके बाद घटनास्थल क्षेत्र के थाना अवतारनगर में FIR दर्ज करवाते हुए आज छपरा कोर्ट में 164 का बयान दर्ज करवाने लाया गया. जहां पीड़िता ने कैमरे पर अपने साथ हुए घिनौनेपन की पूरी आपबीती सुनाई.

मामला बस इतना सा ही नही है,जब पीड़िता लगभग 10-11 साल की थी तब इसके पिता ने भी इसके साथ जबरन दुष्कर्म किया था. इसने इसकी शिकायत अपने माँ से की तो माँ ने पीड़िता की दादी से इसकी शिकायत की, उस वक्त भी पीड़िता औऱ इसकी माँ को परिवार में किसी ने सपोर्ट नही किया. उसके बाद मजबूरन पीड़िता की माँ पीड़िता सहित अपने दो छोटे बेटो को लेकर पटना जाकर मेहनत मजदूरी कर अपने बच्चों का पालन करने लगी, लेकिन कुछ ही सालों बाद पीड़िता की माँ की टीबी से मौत हो गई.

इसके बाद पीड़िता के चाचा कामाख्या सिंह पीड़िता और उसके दो छोटे भाईयो को लेकर अवतारनगर अपने गांव लेकर आये और श्राद्ध के बाद चाचा भी पीड़ित के साथ बलात्कार करने लगा.

पीड़िता के बयान पर अवतारनगर थाने में पीड़िता के पिता,चाचा और चाची पर पॉक्सो के तहत दुष्कर्म और दुष्कर्म में सहयोग का मामला दर्ज करवाया है,

इसी सिलसिले में पीड़िता पटना के NGO की दो महिलाओं और अवतारनगर थाने की पुलिस के साथ छपरा कोर्ट में 164 के तहत अपना बयान दर्ज करवाने आई थी. पीड़िता के साथ आई NGO की महिलाओं ने बताया कि इस केस को उठाने के लिए NGO की अध्यक्ष को फोन पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है,लेकिन इनलोगों का पूरा प्रयास है कि पीड़िता को न्याय मिले.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें