मांझी में मिली सदियों पुरानी धातु की वस्तु

मांझी में मिली सदियों पुरानी धातु की वस्तु

Manjhi: सारण के मांझी के ऐतिहासिक गढ़ पर आकृतियुक्त पीतल का लगभग एक सौ अस्सी ग्राम वजन का एक बाजूबन्द बरामद किया गया है. सरयू नदी के किनारे करैले की खेती कर रहे किसानों द्वारा गढ़ पर खम्भा गाड़ने के लिए जमीन खोदने पर ढाई फुट नीचे सदियों पुराना बाजूबन्द मिला.

मेंहदीगंज निवासी शत्रुघ्न साह तथा धर्मेन्द्र साह ने गढ़ पर मिले बाजूबंद को पुलिस के हवाले कर दिया. इस बरामद धातु को पुरातत्व विभाग को सुपुर्द किया जाएगा.

बताया जा रहा है कि यह धातु से बनी वस्तु तेरहवीं शताब्दी में गढ़ का अवशेष है. जो सदियों से उपेक्षित रहा है. वर्ष 1986 गढ़ की खुदाई की गई थी, इस दौरान मिट्टी के नीचे  भवन के अवशेष मिला था.

आपको बता दें कि पुरातत्व विभाग ने इलाके में खुदाई पर रोक काफी पहले से लगा रखी है. सरयू नदी के किनारे इस जमीन ऊपर लोग खेती करते है. आसपास के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार राजा के ध्वस्त गढ़ को उसरायन के नाम से जाना जाता है. जो मांझी थाना से 100 मीटर की दूरी पर है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें